NDTV Khabar

योगी सरकार के मंत्री का दावा, 2019 लोकसभा चुनाव में BJP की हार तय, शिवपाल पर भी किया खुलासा

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष और राज्य सरकार के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि लोकसभा के आगामी चुनाव में भाजपा की पराजय होनी तय है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
योगी सरकार के मंत्री का दावा, 2019 लोकसभा चुनाव में BJP की हार तय, शिवपाल पर भी किया खुलासा

योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 2019 लोकसभा चुनाव में BJP की हार तय
  2. मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कही यह बात
  3. उन्होंने शिवपाल यादव को मिले बंगले पर भी खुलासा किया है
बलिया: उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष और राज्य सरकार के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने शनिवार को कहा कि लोकसभा के आगामी चुनाव में भाजपा की पराजय होनी तय है. राजभर ने जिले के रसड़ा कस्बे में स्थित अपने आवास पर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार ने अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति कानून को लेकर उच्चतम न्यायालय का फैसला पलट दिया. इसके अलावा उसने कई अन्य विवादास्पद कदम भी उठाये हैं. उन्होंने बताया कि अगर भाजपा सरकार की ऐसी ही कार्यपद्धति रही तो इस पार्टी की आगामी लोकसभा चुनाव में हार निश्चित है. 

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश : CM योगी आदित्यनाथ ने शिक्षकों को दी सख्त वार्निंग, बोले- लापरवाही की तो जा सकती है नौकरी

गोरखपुर, फूलपुर और कैराना लोकसभा उपचुनाव से इसका आगाज हो चुका है. भाजपा जब एससी/एसटी एक्ट को लेकर सीमा लांघेगी और भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर उर्फ रावण को रिहा करेगी तो ‘लंका दहन’ होना तय है. सपा से अलग होकर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा गठित करने वाले पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव को पूर्व मुख्यमंत्री मायावती द्वारा खाली किया गया सरकारी बंगला आबंटित किये जाने के बारे में पूछे गये सवाल पर राजभर ने कहा कि सपा को कमजोर करने के लिये शिवपाल को वह आवास आवंटित किया गया है. 

यह भी पढ़ें: गुजरात हिंसा : अल्पेश ठाकोर ने निर्दोष होने का दावा किया, नीतीश कुमार और योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र

टिप्पणियां
राजभर ने कहा कि अधिकारी वर्ग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेशों का पालन नहीं कर रहा है. जनता की शिकायतों का भी सही तरीके से निस्तारण नहीं हो रहा है. नौकरशाह शिकायत के निस्तारण की केवल खानापूर्ति कर रहे हैं. सूबे में कानून व्यवस्था को लेकर पूछे गये सवाल पर उन्होंने पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्न खड़े किये और कहा कि पुलिस मुठभेड़ के बहुत से दावे फर्जी हैं. 

VIDEO: मिशन 2019 इंट्रो : यूपी में कानून की जगह पुलिस का राज?
पुलिस गरीब लोगों को उसके घर या दुकान से उठाती है, उनका दो बार चालान करती है, फिर मुठभेड़ में मार डालती है.
(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement