NDTV Khabar
होम | उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

  • बालियान ने योगी को लिखी चिट्ठी, यूपी में जिनके दो से अधिक बच्चे हैं उनके पंचायत चुनाव लड़ने पर रोक लगाएं
    केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री संजीव बालियान ने जनसंख्या नियंत्रण को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है. उन्होंने कहा है कि यूपी में जनसंख्या नियंत्रण के लिए अभियान शुरू किया जाए. उन्होंने इस अभियान की शुरुआत आगामी पंचायत चुनाव से करने का आग्रह किया है. संजीव बालियान ने कहा है कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए उत्तराखंड का मॉडल लागू हो सकता है. वहां जिसके दो से अधिक बच्चे हैं उसके पंचायत चुनाव लड़ने पर रोक है.
  • मध्यप्रदेश : उज्जैन पुलिस ने गैंगस्टर विकास दुबे के मामले का किया पूरा खुलासा, नहीं किसी से कनेक्शन
    उज्जैन के एसपी मनोज सिंह ने कानपुर के गैंगस्टर विकास दुबे के मामले पर पूरा खुलासा किया है. उनके मुताबिक विकास दुबे का उज्जैन में किसी से कोई संबंध नहीं था. इसे बारे में कोई लिंक नहीं मिला है. उन्होंने कहा है कि यूपी पुलिस का प्रेस नोट निराधार है. विकास को अभिरक्षा में लेकर यूपी पुलिस के हवाले किया गया था.
  • उत्तर प्रदेश : विकास दुबे के गांव के लोगों के मन से डर दूर करने की कोशिश कर रही पुलिस
    कानपुर के गैंगस्टर विकास दुबे के गांव बीकरू गांव में पुलिस ने स्थानीय लोगों के साथ बैठक की. सीओ त्रिपुरी पांडेय की अध्यक्षता में हुई बैठक में गांव के सारे लोग मौजूद थे. बैठक का मुख्य उद्देश्य गांव के लोगों के बीच समन्वय बनाना और लोगों में हर प्रकार का डर दूर करना था.
  • 'अपने आगे ना पीछे...' गाने पर विकास दुबे ने जम कर किया था डांस, एक हफ्ते बाद ही... देखें VIDEO
    पुलिस की इस थ्योरी पर कई तरह के सवाल भी उठ रहे हैं. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक विकास दुबे को चार गोलियां लगी हैं. शुक्रवार की देर शाम तक उसका शव परिजनों को सौंप दिया गया था जिसका कानपुर में अंतिम संस्कार कर दिया गया है.
  • सुनो...सुनो...सुनो जिन लोगों के पास भी लूटे गए हथियार हैं उन्हें तुरंत वापस कर दो, विकास दुबे के गांव में यूपी पुलिस की मुनादी
    कानपुर के बिकरू गांव का कुख्यात विकास दुबे पुलिस के हाथों शुक्रवार की सुबह मारा गया है. लेकिन अब पुलिस के सामने जहां सवालों की लंबी फेरहिस्त है तो एक और बड़ा सिरदर्द भी. दरअसल 3 जुलाई की रात जब गांव में पुलिस टीम की पर गोलियां चलाई गई थीं तो उस घटना में पुलिसकर्मियों के हथियार भी लूट लिए गए थे. अब उनको ढूंढना भी एक बड़ी चुनौती बन गई है. पुलिस की एक टीम बाकायदा उस बिकरू इलाके में पहुंची है और मुनादी कर रही है कि जिस किसी के पास भी पुलिस वालों के हथियार हैं वो सूचित करके जमा करवा दे नहीं तो उसके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी. पुलिस की एक जीप से माइक के द्वारा इस बात की मुनादी की जा रही है.  
  • विकास दुबे के मारे जाने के बाद अब खंगाली जाएगी दौलत, ED ने मांगा संपत्ति का ब्योरा
    ईडी ने अपने पत्र में कहा कि यह जानकारी में आया है कि आठ पुलिसकर्मियों की हत्या में मुख्य आरोपी विकास दुबे कई सालों से आपराधिक  मामलों में लिप्त था और आपराधिक गतिविधियों के जरिये दौलत बनाई है. ये संपत्ति उसके, उसके परिवार वालों और सहयोगियों के नाम पर है.
  • विकास दुबे के एनकाउंटर पर बोले उसके पिता- मेरे बेटे ने किया था अक्षम्य पाप...
    न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए रामकुमार दुबे ने कहा, 'क्या उसने हमारा कहा माना, माना होता तो उसकी जिंदगी ऐसे खत्म नहीं होती. विकास ने कभी किसी भी तरह से हमारी मदद नहीं की. उसकी वजह से हमारी पैतृक संपत्ति नष्ट हो गई. उसने 8 पुलिसवालों को भी मारा, जो एक अक्षम्य पाप था. प्रशासन ने ठीक किया है. अगर वो ऐसा नहीं करते तो कल कोई और ऐसी हरकत करता.'
  • मवेश‍ियों से बचने की कोशिश में पलट गई कार, विकास दुबे ने की भागने की कोश‍िश : पुलिस, 10 अहम बातें...
    यूपी पुलिस ने विकास दुबे को एनकाउंटर में मार गिराया है. पुलिस के मुताबिक शुक्रवार सुबह उज्जैन से लौटते समय कानपुर के पास गाड़ी की दुर्घटना के बाद विकास के एनकाउंटर की घटना को अंजाम दिया गया. यूपी पुलिस विकास को अपने साथ लेकर आ रही थी. शुक्रवार सुबह पुलिस के काफिले की एक गाड़ी पलट गई. इसके बाद विकास दुबे ने पुलिस से पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की. विकास ने पुलिस पर फायरिंग की जिसका जवाब देते हुए विकास की पुलिस की गोली लगने से मौत हो गई. हालांकि अब इस एनकाउंटर को लेकर सवाल उठने लगे हैं.
  • कांग्रेस से बीजेपी में आए मंत्री ने कहा- पीएम, एमपी के सीएम और यूपी के सीएम समाज के लिए कलंक!
    मध्यप्रदेश में सत्ताधारी बीजेपी के दो नेताओं की जुबान फिसल गई. सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट विकास दुबे की जगह गलती से प्रधानमंत्री, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री और उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री को समाज के लिए कलंक कहते सुनाई दे रहे हैं. हालांकि मंत्री ने कहा है कि वीडियो के साथ छेड़छाड़ हुई है, और वो ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे. वहीं इंदौर के सांसद शंकर ललवानी ने आठ पुलिस वालों की हत्या के आरोपी विकास दुबे को दुबे जी कहकर संबोधित किया.
  • कोरोनावायरस: उत्तर प्रदेश में अब फेस मास्क न पहनने पर 500 रुपये जुर्माना
    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, उत्तर प्रदेश में COVID-19 मामलों की पुष्टि 32,362 है. इसमें 10,373 एक्टिव केस, 21,127 ठीक और डिस्चार्ज किए गए मरीज और बीमारी के कारण 862 मौतें शामिल हैं. 
  • ग्राउंड जीरो रिपोर्ट : उज्जैन से जब STF निकली तो टाटा सफारी में बैठा था विकास दुबे, एक्सीडेंट हुआ TUV का!
    यूपी के मोस्टवांटेड और 8 पुलिसकर्मियों के हत्या के आरोपी विकास दुबे को कानपुर के पास पुलिस एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया,पुलिस का दावा है कि कार पलटने के बाद विकास ने भागने की कोशिश की लेकिन एनकाउंटर के तरीके को देखें तो खुद समझ आ जायेगा कि ये एनकाउंटर कितना नाटकीय था.  उज्जैन से जब विकास दुबे को यूपी एसटीएफ लेकर निकली तो उसके काफिले में 3 गाड़ियां थीं ,टाटा सफारी की पिछली सीट पर वो बैठा था ,उसके अगल बगल 2 पुलिसकर्मी बैठे थे ,काफिले की ये तस्वीरें 2 टोल नाकों पर कैद हुईं.
  • विकास दुबे के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने पर शिवसेना ने कहा, 'पुलिस की कार्रवाई पर....'
    कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया, ‘‘अपराधी का अंत हो गया, अपराध और उसको सरंक्षण देने वाले लोगों का क्या?
  • अतीक अहमद गैंग का गुर्गा और 12 मामलों में वांटेड मोहम्मद अख्तर मध्य प्रदेश से गिरफ्तार, लाया जाएगा यूपी
    3 जुलाई को कानपुर में विकास दुबे की गैंग के हाथों 8 पुलिसकर्मियों के जान गंवाने के बाद यूपी पुलिस अपराधियों को अब किसी भी कीमत में छोड़ने के मूड में नहीं है. इस घटना के बाद से बदमाश दूसरे राज्यों  में पनाह ले रहे हैं. इलाहाबाद के बाहुबली अतीक अहमद के गैंग का गुर्गा मोहम्मद अख्तर मध्य प्रदेश के शहडोल के सुहागपुर इलाके से गिरफ्तार किया गया है. उसके खिलाफ 12 अपराधिक मामले इलाहाबाद में दर्ज हैं.
  • 'कानपुर घटना' में शहीद पुलिस अफसर के रिश्‍तेदार ने कहा, 'जिन लोगों ने विकास दुबे की मदद की, वे अभी भी फल-फूल रहे'
    "Vikas Dubey Encounter: हमले में शहीद होने वाले इन आठ पुलिसकर्मियों में से एक उप पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र मिश्रा के ब्रदर इन लॉ कमलाकांत मिश्रा (Kamla Kant Mishra) ने कहा, "मुझे लगता है कि न्याय का एकमात्र अर्थ यह है कि हम अपने परिवार की ओर से संस्‍कारों (rituals) को यह जानते हुए पूरा कर सकते हैं कि उसका हत्‍यारा अब जिंदा नहीं है. लेकिन हमारे समाज में एक बीमारी है और वह वैसी ही बनी हुई है."
  • Vikas Dubey Encounter : इस तस्वीर में छिपा था पुलिस का आखिरी दांव जो नहीं समझ पाया विकास दुबे?
    Vikas Dubey Encounter : बीती 3 जुलाई से लेकर 8 जुलाई तक 7 राज्यों की पुलिस, 100 टीमें, 5 लाख का इनाम और कई एसपी और डीएसपी को अकेले छकाने वाला कानपुर का गैगंस्टर विकास दुबे आखिरी 24 घंटों में मात गया है. फरारी से लेकर उज्जैन में पकड़े जाने तक लेकर उसकी ही रची स्क्रिप्ट में पुलिस इधर-उधर दौड़ती रही है और अब मध्य प्रदेश पुलिस की इस तस्वीर को देखिए इसमें आपको एक भी पुलिसकर्मी हथियार लिए नहीं नजर आ रहा है.  मतलब शुरू से ही शक किया जा रहा था कि विकास दुबे ने जानबूझकर उज्जैन के महाकाल मंदिर में जाकर सरेंडर किया है. दरअसल ऐसा लग रहा है कि आखिरी 24 घंटो में पुलिस भी विकास की रची स्क्रिप्ट पर काम करने लगी थी.  यानी विकास दुबे को इस बात का विश्वास दिलाना था कि जैसा वह चाह रहा है वैसा ही हो रहा है. नहीं तो ये विश्वास करना मुश्किर है कि जिस शख्स ने कुछ ही घंटों में 8 पुलिसकर्मियों को मार दिया है, उसे पकड़ने वाली पुलिस बिना हथियार लिए वहां पहुंच गई हो.  उसके गिरफ्तार होने के पहले के घटनाक्रम पर नजर डालें तो ये भी नाटकीय लग रहा है कि विकास दुबे उज्जैन पहुंचता है वहां वह 250 रुपये की रसीद कटवाता है और दर्शन करने के बाद खुद को 'विकास दुबे...कानपुर वाला' बताता है. माने उसको यहां तक  अपने सरेंडर वाली थ्योरी पर विश्वास था कि ऐसा करने से वह पुलिस के हाथों मरने से बच जाएगा.
  • विकास दुबे ढेर : कुख्यात गैंगस्टर के एनकाउंटर पर पुलिस को देना होगा इन 5 अहम सवालों का जवाब
    कानपुर के चौबेपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) पुलिस मुठभेड़ में मार गिराया. उत्तर प्रदेश पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि एक सड़क हादसे के बाद भागने की कोशिश कर रहे विकास दुबे की पुलिस एनकाउंटर में मौत हो गई. इस एनकाउंटर को लेकर तरह-तरह के सवाल उठ रहे हैं.
  • पूछताछ के बाद पुलिस ने विकास दुबे की पत्नी और बेटे को छोड़ा, कल दोनों को लखनऊ से पकड़ा था
    कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) की पत्नी और बेटे को पूछताछ के बाद पुलिस ने छोड़ दिया है. कुख्यात बदमाश विकास दुबे की पत्नी और बेटे को गुरुवार को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया था.
  • कानपुर के गैगंस्टर विकास दुबे का एनकाउंटर :  ये 10 सवाल जिनका जवाब बहुतों को 'वास्तव' में ले डूबता
    गैंगस्टर विकास दुबे( Vikas Dubey) को पुलिस ने कानपुर से 30 किलोमीटर दूर भौंती नाम की जगह पर मार गिराया है. पुलिस के मुताबिक उज्जैन से उसे सड़क के रास्ते लाया जा रहा था तभी काफिल में शामिल एक वाहन पलट गया इसका फायदा उठाकर उसने भागने की कोशिश जिसमें पुलिस ने उसे मार गिराया है. लेकिन पुलिस की इस थ्योरी पर सवाल उठ रहे हैं. जब विकास दुबे ने बड़े आराम से खुद को सरेंडर किया और उसे पता था कि अब उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा यानी एनकाउंटर का खतरा टल चुका था तो भागने की कोशिश क्यों करेगा. गौरतलब है कि विकास दुबे के मामले में पुलिस की भूमिका शुरू से ही संदिग्ध रही है और उसके एक गुर्गे ने कैमरे के सामने बोला है कि उसे पकड़ने के लिए पुलिस आ रही है इसकी सूचना उसे थाने से ही दी गई है. दूसरी ओर कुछ मीडिया रिपोर्टस की मानें तो उज्जैन में जब उससे पूछताछ की जा रही थी तो वहां भी उसने कबूला था कि उसकी मदद में कई पुलिस चौकियां शामिल थीं. कुल मिलाकर विकास दुबे के खत्म होते ही ये सवाल भी हमेशा के लिए दफन हो गए.
  • Vikas Dubey Encounter: जिसे एक सप्ताह तक नहीं ढूंढ़ पाई पुलिस, वो गिरफ्तारी के 24 घंटे में ही मारा गया, 5 प्वांइट्स में जानें पूरी कहानी
    Vikas Dubey Encounter: में कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं. विकास दुबे को गुरुवार सुबह उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया था. उत्तर प्रदेश पुलिस की STF उसे मध्य प्रदेश से उत्तर ला रही थी. विकास दुबे की मौत के साथ कानपुर में अपराध का अध्याय भी खत्म हो गया. 
  • गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर की कहानी, पुलिस की जुबानी, देखें VIDEO
    Vikas Dubey Encounter: कानपुर पश्चिम के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अभियुक्त विकास दुबे को जब लाया जा रहा था तो रास्ते में गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ और गाड़ी पलट गई. गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे ने घायल पुलिसकर्मियों की पिस्टल छीन कर भागने की कोशिश की. पुलिस पार्टी ने उसको चारों तरफ से घेरकर आत्मसमर्पण कराने की कोशिश की. जिसमें उसने पुलिस पर फायरिंग की, जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने आत्मरक्षा में गोलियां चलाई.
12345»

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com