NDTV Khabar

उत्तराखंड में भारतीय सीमा में घुसे चीनी सैनिक, दो घंटे बाद वापस लौटे

बताया जा रहा है कि चीनी सेना के जवान 500 मीटर तक भारतीय सीमा में घुस आए और दो घंटे के बाद वापस चले गए. जानकारी के अनुसार यह घटना पिछले हफ्ते की है. 

1764 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तराखंड में भारतीय सीमा में घुसे चीनी सैनिक, दो घंटे बाद वापस लौटे

उत्तराखंड में चीनी सेना ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारत और चीन की सीमा कई स्थानों पर निर्धारित नहीं है, लेकिन कई जगहों पर सीमा स्पष्ट है. इसके बावजूद चीन की ओर से भारतीय सीमा क्षेत्र का उल्लंघन होता रहा है. अब उत्तराखंड में चीनी सेना के जवानों के भारतीय सीमा में घुस आने की खबर है. बताया जा रहा है कि चीनी सेना के जवान 500 मीटर तक भारतीय सीमा में घुस आए और दो घंटे के बाद वापस चले गए. गृह मंत्रालय के अधिकारी ने भी इस बात को माना है चीनी सैनिक भारतीय सीमा में घुस आए थे. जानकारी के अनुसार यह घटना पिछले हफ्ते की है. हालां‍क‍ि सेना और सरकारी सूत्रों ने उत्तराखंड के बराहोती में चीनी सेना के घुसपैठ की खबर को गलत बताया है. सूत्रों का कहना है कि वहां आमतौर पर दोनों देशों के सैनिक एक दूसरे के इलाके में चले जाते हैं क्योंकि जिस इलाके की बात हो रही है वहां सीमा चिन्हित नहीं है. सूत्रों के अनुसार करीब 10 की संख्‍या में चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा में प्रवेश किया था.

जानकारी के लिए बता दें कि सिक्किम सीमा से लगे भूटान के डोकलाम में भी भारतीय सैनिक और चीनी सैनिक आमने सामने डटे हुए हैं. यह पिछले महीने की 16 तारीख से चला आ रहा है.
 
बता दें कि पिछले साल भी जुलाई के महीने में इसी प्रकार के घुसपैठ की खबर आई थी. तब विपक्षी पार्टी कांग्रेस, समाजवादी पार्टी (सपा) और तृणमूल कांग्रेस ने लोकसभा में उत्तराखंड से सटी सीमा क्षेत्र में चीनी सैनिकों की घुसपैठ का मुद्दा उठाया था. लोकसभा में शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया व अन्य ने उठाया था.

सिंधिया ने कहा था कि घुसपैठ की यह घटना चमोली के पास हुई और चीनी सेना भारतीय सीमा में 200 मीटर अंदर तक घुस आई थी. कांग्रेस सांसद ने आरोप लगाया, "खबरें हैं चीनी सैनिकों ने उस क्षेत्र के स्थानीय राजस्व अधिकारियों से बदसलूकी की है." सिंधिया ने कहा कि यह कोई अकेली घटना नहीं है.

VIDEO : डोकलाम विवाद पर सुषमा स्वराज ने संसद में दिया बयान

साल 2014 में भी ऐसी घटनाएं उत्तराखंड में सामने आई थीं. उन्होंने आरोप लगाया कि चीनी सैनिकों ने पहले अरुणाचल प्रदेश में भी भारतीय सीमा लांघने की कोशिश की थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement