NDTV Khabar

भारत-वेस्ट इंडीज सेमीफाइनल : जानिए क्या रहीं वेस्ट इंडीज की जीत की तीन बड़ी वजहें

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत-वेस्ट इंडीज सेमीफाइनल : जानिए क्या रहीं वेस्ट इंडीज की जीत की तीन बड़ी वजहें

भारत-वेस्ट इंडीज मैच के दौरान महेंद्र सिंह धोनी और लेंडस सिमेंस।

नई दिल्ली:

वर्ल्ड कप के दूसरे सेमीफाइनल में वेस्ट इंडीज भारत को सात विकेट से हराकर फाइनल में पहुंच गया है और अब इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल मैच खेलेगा। भारत ने वेस्टइंडीज के सामने 193 का लक्ष्य रखा था। भारत की तरफ से विराट कोहली ने फिर शानदार पारी खेली और 47 गेंदों का सामना करते हुए शानदार 89 रन बनाकर नॉट-आउट रहे। एक वक़्त ऐसा लग रहा था शायद वेस्ट इंडीज यह मैच हार जाएगा लेकिन उसके बल्लेबाजों ने शानदार बैटिंग करते हुए भारत से यह मैच छीन लिया। चलिए जानते हैं क्या रहीं वेस्ट इंडीज टीम की जीत की वजहें।

टॉस जीतना वेस्ट इंडीज के लिए फायदेमंद साबित हुआ
वेस्ट इंडीज लक्ष्य का पीछा करते हुए इस वर्ल्ड कप में शानदार खेला है। वह लीग मैच के दौरान तीन मैचों में लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत चुका है। उसने इंग्लैंड, श्रीलंका, साउथ अफ्रीका जैसी टीमों को हराया। वेस्ट इंडीज लीग मैच के दौरान सिर्फ एक मैच ही हारा था, अफगानिस्तान जैसी नई टीम के खिलाफ, वह भी पहले बैटिंग करते हुए।

टिप्पणियां

वेस्ट इंडीज ने की शानदार बल्लेबाजी
पूरे वर्ल्ड कप के दौरान यही चर्चा हो रही थी कि गेल ही एक खिलाड़ी है जो वेस्ट इंडीज को जिता सकता है। लेकिन आज के मैच में गेल सिर्फ पांच रन बनाकर आउट हो गए थे। लेकिन वेस्ट इंडीज के सलामी बल्लेबाज जानसन चार्ल्स से शानदार बैटिंग करते हुए 37 गेंदों पर शानदार 52 रन बनाए। सिर्फ इतना ही नहीं लेंडिल सीमन ने भी शानदार बल्लेबाजी  करते हुए सबसे ज्यादा 82 रन बनाए।  एंड्रू रसल ने भी तेजी से बैटिंग करते हुए सिर्फ 19 गेंदों पर 37 रन बनाए और छक्का लगते हुए वेस्टइंडीज को जीत दिलवाई।


किस्मत ने भी वेस्ट इंडीज का साथ दिया
आज किस्मत ने पूरी तरह वेस्ट इंडीज के साथ दिया। चार्ल्स को एक बार आश्विन ने आउट किया और एक बार जसप्रीत बुमराह ने लेकिन दोनों बार नो बॉल की वजह से चार्ल्स दोबारा बैटिंग करने के लिए बुलाए गए।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement