टी 20 वर्ल्ड कप फाइनल : कोलकाता के बड़े मैदान पर स्पिनर्स तय कर सकते हैं नतीजा

टी 20 वर्ल्ड कप फाइनल : कोलकाता के बड़े मैदान पर स्पिनर्स तय कर सकते हैं नतीजा

वेस्टइंडीज़ के कप्तान डैरेन सैमी (फाइल फोटो)

कोलकाता:

वह लम्हा आ गया है जब क्रिकेट के दिवानों को टी-20 विश्व कप के छठे संस्करण का चैंपियन मिल जाएगा। वह लम्हा जब रचा जाएगा इतिहास और इसका इतिहास बनेगा एक बार फिर से कोलकाता का ईडन गार्डन जिसने अपनी यादों में ऐसे कई लम्हें समेटे हैं। एक नज़र आज के मैच से जुड़े अलग अलग पहलू पर और आखिर किसका पलड़ा भारी होगा -

T20 में रिकॉर्ड
पिछले आंकड़ों को देखें तो विंडीज़ टीम का पलड़ा भारी है। इंग्लैड और वेस्टइंडीज़ ने आपस में 13 मैच खेले हैं जिसमें से 9 मे जीत दर्ज की इंडीज़ ने और इंग्लैंड को महज़ 4 मैचों में जीत मिली। वहीं टी-20 विश्वकप में आपस में खेले 4 मैचों में अब तक इंग्लैंड विंडीज़ टीम को हरा नहीं सका है। इंग्लैंड के बल्लेबाज़ जो रूट फ़ाइनल मैच को लेकर कहते हैं कि टीम के सभी खिलाड़ी इस मैच को लेकर काफ़ी उत्साहित हैं। विश्व कप के फाइनल में खेलना खास बात है, यह एक सपने की तरह है और टीम बस में या फिर ड्रेसिंग रूम में सभी खिलाड़ियों के चेहरे पर मुस्कान रहती है। रूट के बताया कि वह सब रविवार को फ़ाइनल मैच के लिए मैदान पर उतरने के लिए तैयार हैं।
 

इंग्लैंड ने फाइनल में पहुंचकर सभी को हैरान कर दिया

कैसी होगी पिच?
कोलकाता में खेले गए मुकाबलों में एक भारत-पाकिस्तान मैच को छोड़ दें तो पिच बल्लेबाज़ी के अनुकूल रही है। ऐसे में फाइनल मैच में भी रन बरसने की पूरी उम्मीद है। टॉस के असर की बात करें तो दोनो ही टीमों ने अब तक शानदार तरीके से लक्ष्य का पीछा किया है। ऐसे में फ़ाइनल मैचों की पुरानी थ्योरी, टॉस जीतो और बल्लेबाज़ी करो से दोनो टीमें शायद बचती दिखें। यहां टॉस जीतकर गेंदबाज़ी करना सही फ़ैसला हो सकता है, खासकर ड्यू फ़ैक्टर को ध्यान में रखते हुए।
 

वेस्टइंडीज़ की टीम ने बयान दिया था कि वह वन-मैन टीम नहीं है

कोलकाता का बड़ा मैदान
मुंबई के मुकाबले कोलकाता का मैदान आकार में बड़ा है। ऐसे में यहां दौड़कर रन भागने वाली टीम को फ़ायदा हो सकता है। यहां मिस हिट के छक्के जाना मुश्किल है और स्पिनर्स पर टीमें ज्यादा निर्भर हो सकती हैं। विंडीज़ के कप्तान डैरन सैमी कहते है कि 'यह एक और मैच है और हमारे लिए इस टूर्नामेंट का आखिरी पड़ाव है। इस मैच के लिए हमारा ध्यान इंग्लैंड पर तो है ही लेकिन उससे ज्यादा हमारा फ़ोकस अपनी टीम पर है। अगर हम वह कर पाएं जो हम कर सकते हैं तो हमें इस टूर्नामेंट को जीतने से रोकना बेहद मुश्किल है।'

आज दोनों में से कोई एक टीम इतिहास रचने जा रही है। इंग्लैंड ने 2010 में और वेस्टइंडीज़ ने 2012 में वर्ल्ड टी-20 की खिताब अपने नाम किया था। जो भी टीम आज जीतेगी वह ऐसी पहली टीम बनेगी जो दूसरी बार वर्ल्ड टी-20 चैंपियन बनेगी।

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com