NDTV Khabar

टी 20 वर्ल्ड कप : जानिए, वर्ल्ड कप जीतने में वेस्ट इंडीज का किस्मत ने कैसे दिया साथ

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
टी 20  वर्ल्ड कप : जानिए, वर्ल्ड कप जीतने में वेस्ट इंडीज का किस्मत ने कैसे दिया साथ

वेस्ट इंडीज-इंग्लैंड मैच का एक दृश्य।

नई दिल्ली: जब वेस्ट इंडीज भारत को सेमीफाइनल में हराकर फाइनल में पहुंचा था तब लगभग यह तय हो गया था कि वेस्ट इंडीज वर्ल्ड कप जीतने का गौरव हासिल करेगा। आज वही हुआ। फाइनल मैच में इंग्लैंड को चार विकेट से हराकर वेस्ट इंडीज दोबारा टी 20 वर्ल्ड कप जीत गया। वेस्ट इंडीज ने 156 रन का पीछा करते हुए यह मैच जीता। आखिरी ओवर में जब 19 रन की जरूरत थी तब कार्लोस ब्राथवेट ने लगातार चार छक्के लगाए जिससे वेस्ट इंडीज को जीत हासिल हुई।

छह मैचों में से पांच मैचों में वेस्टइंडीज ने टॉस जीता
इस वर्ल्ड कप में अगर वेस्ट इंडीज टीम की बात करें तो उसकी बैटिंग, बोलिंग से कहीं ज्यादा अच्छी थी। सैमुएल बद्री को छोड़कर कोई भी गेंदबाज अच्छे फॉर्म में नहीं था। इस बात को जानते हुए वेस्ट इंडीज के कप्तान डैरेन सैमी ने लक्ष्य का पीछा करना पसंद किया और इस तरह हर मैच भी जीता। इस मामले में किस्मत ने वेस्ट इंडीज का साथ भी दिया। उसने छह मैचों में से पांच मैचों में टॉस जीता और इन पांचों मैचों में पहले गेंदबाजी करने  के बाद लक्ष्य का पीछा करते हुए मैच जीते।

मुकद्दर में मिले लक्ष्य पूरे करके बनते रहे 'सिकंदर'
16 मार्च को  वेस्ट इंडीज के कप्तान डैरेन सैमी ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी करते हुए मैच जीता।  इस मैच में इंग्लैंड ने 183 का लक्ष्य रखा था। वेस्टइंडीज ने छह विकेट से मैच जीत गया। वेस्ट इंडीज के तरफ से क्रिस गेल ने शानदार 100 की पारी खेली। फिर 20 मार्च  को श्रीलंका के खिलाफ वेस्ट इंडीज ने टॉस जीता और 123 रन का पीछा करते हुए मैच जीता। 25 मार्च को नागपुर में साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैच में वेस्ट इंडीज ने टॉस जीता और 123 के लक्ष्य का पीछा करते हुए तीन विकेट से मैच जीता। वेस्ट इंडीज अफगानिस्तान के खिलाफ टॉस हार गया था और पहले बल्लेबाजी करते हुए यह मैच भी हार गया।

टिप्पणियां
भारत की बड़ी चुनौती के बावजूद जीत मिली
सेमीफाइनल मैच के दौरान भारत के खिलाफ वेस्ट इंडीज टॉस जीता था और पहले गेंदबाज़ी करते हुए मैच जीता। भारत ने वेस्ट इंडीज के सामने 193 का विशाल लक्ष्य रखा था लेकिन फिर भी वह यह मैच सात विकेट से जीत गया।

तकदीर हर जगह देती रही साथ
सिर्फ टॉस ही नहीं, कई दूसरे मामलों में भी किस्मत ने वेस्ट इंडीज का साथ दिया। फाइनल मैच में वेस्ट इंडीज की तरफ से सबसे ज्यादा 85 रन बनाने वाले शमूएल दो बार रन आउट होने से बच गए। भारत के खिलाफ सेमीफाइनल मैच के दौरान भी किस्मत ने वेस्ट इंडीज का साथ दिया। सेमीफइनल मैच के हीरो रहे लैंडल सिमोंस दो बार नो बाल की वजह से आउट होते हुए भी बच गए।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement