NDTV Khabar

'चैंपियन' कप्तान डेरेन सैमी ने बताया, कैसे 'बिना दिमाग वाली टीम' ने दुनिया को किया सन्न

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'चैंपियन' कप्तान डेरेन सैमी ने बताया, कैसे 'बिना दिमाग वाली टीम' ने दुनिया को किया सन्न

डेरेन सैमी की फाइल तस्वीर

कोलकाता: वेस्टइंडीज के चैंपियन बनने से खुश कप्तान डेरेन सैमी ने कहा कि उनकी टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ जिन हालात में यह जीत दर्ज की उससे लंबे समय तक वह इसे याद रखेंगे। वेस्टइंडीज को आखिरी ओवर में 19 रन चाहिए थे और ऐसे में कार्लोस ब्रेथवेट ने बेन स्टोक्स की पहली चार गेंदों पर छक्के जड़कर अपनी टीम को चार विकेट से जीत दिलाई। इससे पहले वेस्टइंडीज की महिला टीम भी चैंपियन बनी थी और इस तरह से वह दोनों खिताब जीतने में सफल रहा।

मर्लोन सैमुअल्स ने नाबाद 85 रन बनाए और उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। सैमी ने मैच के बद कहा, मैं सबसे पहले ईश्वर का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। मैं वास्तव में इस जीत से खुश हूं। यह ऐसी जीत है जिसको हम लंबे समय तक याद रखेंगे। हमारे पास कुछ मैच विजेता हैं, लेकिन किसी ने हमें विजेता नहीं माना था। प्रत्येक मैच में किसी न किसी ने मैच विजेता की भूमिका निभाई। मुझे खुशी है कि कार्लोस ने अपने पहले विश्व कप में इस तरह की पारी खेली।

उन्होंने कहा, इससे कैरेबियाई क्षेत्र में टी-20 की ताकत का पता चलता है। उम्मीद है कि हम सुधार जारी रखेंगे। लोग हैरान थे हम इस टूर्नामेंट में खेल रहे हैं। हमारे बोर्ड के साथ कुछ मसले थे। हमारे बारे में कहा गया कि खिलाड़ियों के पास दिमाग नहीं है। लेकिन इन 15 खिलाड़ियों ने मुश्किलों को भुलाकर बेहतरीन क्रिकेट खेली।

सैमी ने कहा, पूरी टीम को श्रेय जाता है। कोच फिल सिमन्स, मैनेजर सभी को। यह कैरेबियाई प्रशंसकों के लिए है। मैं नहीं जानता कि मैं फिर कब वेस्टइंडीज की तरफ से खेलूंगा। मैं अपनी टीम और कोचिंग स्टाफ का आभार व्यक्त करता है। यह चैंपियंस के लिए है।

सैमुअल्स ने कहा कि टीम अब किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं है। उन्होंने कहा, 'मैं फाइनल्स के बारे में जानता हूं। इंग्लैंड के खिलाड़ियों का पूरा सम्मान करते हुए मैं कहना चाहता हूं कि हम अपनी मजबूती से आगे बढ़ना चाहते हैं। यदि हमें अच्छी शुरुआत मिलती तो मैं उसे आगे बढ़ाता, हमने शुरू में विकेट गंवाए और मुझे पारी संवारनी पड़ी।

इंग्लैंड के कप्तन इयोन मोर्गन ने कहा कि उनकी टीम के लिए मैच काफी उतार-चढ़ाव वाला रहा। उन्होंने कहा, मैं वेस्टइंडीज को बधाई देता हूं। उन्होंने बेहतर प्रदर्शन किया। हमारे लिए काफी उतार-चढ़ाव रहे। आखिरी ओवर तक हम निश्चित तौर पर जीत की स्थिति में थे। विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छा था, जिसमें 180 से 190 रन बनते और हमारा स्कोर पर्याप्त नहीं था।

टिप्पणियां
उन्होंने कहा, हमने पूरे टूर्नामेंट में अपना जज्बा दिखया, लेकिन खिताब के लिए पर्याप्त प्रयास नहीं कर पाए। मेरा मानना है कि यह किसी खास की शुरुआत है। यह उसकी (स्टोक्स की) गलती नहीं है। हम सब एक हैं। हमने जीतों का आनंद लिया है तो हार का दर्द भी साझा करेंगे।

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement