NDTV Khabar

पेरिस में बंदूकधारी की गोलीबारी में एक पुलिसकर्मी की मौत, ISIS ने ली जिम्‍मेदारी

78 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पेरिस में बंदूकधारी की गोलीबारी में एक पुलिसकर्मी की मौत, ISIS ने ली जिम्‍मेदारी

शूटिंग की घटना के बाद पुलिस ने चैम्स-एलीसीस शॉपिंग इलाके को ब्‍लॉक कर दिया है.

खास बातें

  1. यह इलाका पेरिस के सबसे व्‍यस्‍त इलाकों में शुमार
  2. आईएस ने कहा कि हमलावर बेल्जियम मूल का था
  3. रविवार को राष्‍ट्रपति चुनावों के पहले दौर का होने जा रहा मतदान
पेरिस: फ्रांस में होने जा रहे राष्‍ट्रपति चुनाव से ऐन पहले पेरिस के चैम्स-एलीसीस शॉपिंग डिस्ट्रिक्‍ट में गुरुवार की शाम को एक शख्‍स की गोलीबारी में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई और दो अन्‍य घायल हो गए. फ्रांस के गृह मंत्री ने घटना की जानकारी देते हुए कहा है कि पुलिस की जवाबी गोलीबारी में हमलावर को मार गिराया गया. यह घटना शहर के उस हिस्‍से में हुई है जो शॉपिंग स्‍ट्रीट के रूप में प्रसिद्ध है. आमतौर पर शहर के बीचोंबीच स्थित इस हिस्‍से में हमेशा पर्यटकों की भारी भीड़ होती है. घटना के बाद इस हिस्‍से को सशस्‍त्र बलों ने ब्‍लॉक कर दिया है और आस-पास के मेट्रो स्‍टेशनों को बंद कर दिया गया है. इसके अलावा घटनास्‍थल पर आपात सेवाओं की दर्जनों वाहनों को भेजा गया है.

घटना के तत्‍काल बाद आतंकी संगठन इस्‍लामिक स्‍टेट ने इसकी जिम्‍मेदारी ली है. इस संगठन ने यह भी कहा कि मारा गया हमलावर बेल्जियम का रहने वाला था. हालांकि फ्रांसीसी पुलिस ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है. पुलिस ने यह जरूर कहा है कि ऐसा लगता है कि जानबूझकर इस हमले में पुलिस को निशाना बनाया गया. आतंकी पहलू के लिहाज से भी इसकी जांच शुरू कर दी गई है.

गोलीबारी की यह घटना उस वक्‍त हुई है जब महज दो दिन पहले दक्षिणी मर्सील में पुलिस ने दो संदिग्‍धों को हथियारों और विस्‍फोटकों के साथ गिरफ्तार किया था. उन पर संदेह है कि वह रविवार को होने जा रहे राष्‍ट्रपति चुनाव के पहले चरण के मतदान से पहले हमला करने की फिराक में थे.

उल्‍लेखनीय है कि हालिया दौर में कई आतंकी हमलों को झेलने वाले फ्रांस में आपात स्थिति लागू है. 2015 से फ्रांस में कई आतंकी हमले हो चुके हैं, जिनमें 230 लोग मारे गए हैं. राष्‍ट्रपति चुनावों के मद्देनजर और इस घटना की पृष्‍ठभूमि में चांज एलीसीज जैसे पर्यटक स्‍थलों और सरकारी इमारतों एवं धार्मिक स्‍थलों पर संभावित खतरे को देखते हुए हजारों सशस्‍त्र बलों को तैनात किया गया है.

हालांकि राजनीतिक विश्‍लेषकों के मुताबिक इस घटना से पहले चुनावों के लिहाज से वोटरों के बीच बेरोजगारी और खर्च करने की क्षमता जैसे मुद्दे अभी तक हावी रहे हैं. राष्‍ट्रपति चुनाव का दूसरे राउंड का मतदान सात मई को होगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement