NDTV Khabar

बांग्लादेश : भीषण बाढ़ का कहर, अब तक हो चुकी है 170 लोगों की मौत

बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित जिले रंगमती में अब तक 116 लोगों के शव बरामद हुए हैं और चार लोग लापता हैं, जिनकी मौत होने की आशंका है.

8 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बांग्लादेश : भीषण बाढ़ का कहर, अब तक हो चुकी है 170 लोगों की मौत

सबसे ज्यादा प्रभावित जिले रंगमती में अब तक 116 लोगों के शव बरामद हुए हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बांग्लादेश में बाढ़ से भारी नुकसान
  2. 4500 लोग राहत शिविरों में ठहरे
  3. अब तक हो चुकी है 170 लोगों की मौत
नई दिल्ली: बांग्लादेश में भारी बारिश व बाढ़ के चलते 170 लोगों की मौत हो गई है, जबकि देश के दक्षिणपूर्वी हिस्से में 4,500 लोगों ने करीब 50 शरणार्थी शिविरों में आश्रय ले रखा है. मिली जानकारी के मुताबिक, बांग्लादेशी आपदा प्रबंधन एवं राहत सचिव शाह कमल ने मंगलवार को कहा, "करीब 4,500 लोग शरणार्थी शिविरों में रह रहे हैं, जो और बारिश तथा भूस्खलन होने की आशंका के मद्देनजर 15 जुलाई तक खुले रहेंगे." क्षेत्रीय डिप्टी-कमिश्नर मंजुरुल मन्नान ने सेना, पुलिस और रेड क्रीसेंट द्वारा संचालित शिविरों का जिक्र करते हुए कहा कि बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित जिले रंगमती में अब तक 116 लोगों के शव बरामद हुए हैं और चार लोग लापता हैं, जिनकी मौत होने की आशंका है, इलाके में बढ़ते शरणार्थियों की संख्या के मद्देनजर अधिकारियों ने सोमवार को दो नए शिविर खोले हैं. 

उन्होंने कहा कि उनके पास शरणार्थियों के लिए और शिविरों के बाहर रहने वाले लोगों के लिए आवश्यक खाद्यान्नों की पर्याप्त आपूर्ति है, जिन्हें पहले ही 2,100 पैकेटों की आपूर्ति की जा चुकी है और हर पैकेट में 30 किलोग्राम चावल है.  शिविर के प्रबंधक फारुख सुफियां ने बताया कि भारी बारिश के बीच मंगलवार को भी 20 लोगों का नया समूह रंगमती के शाहिद अब्दुल अली अकादमी शिविर में पहुंचा, जहां पहले से ही बाढ़ प्रभावित सैकड़ों लोग रह रहे हैं. मौसम विभाग ने 13 जून को बारिश शुरू होने के बाद से जिले में 679 मिलीमीटर बारिश दर्ज की है, पिछले 24 घंटों में ही 74 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है. 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement