NDTV Khabar

डोनाल्ड ट्रंप को जान से मारने की कोशिश करने वाला अरेस्ट, शूटिंग की ट्रेनिंग लेकर आया था

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डोनाल्ड ट्रंप को जान से मारने की कोशिश करने वाला अरेस्ट, शूटिंग की ट्रेनिंग लेकर आया था
लॉस एंजिलिस:
टिप्पणियां

ब्रितानी मूल के 19 वर्षीय एक युवक को लास वेगास में रिपब्लिकन पार्टी के संभावित उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप की रैली के दौरान उनकी हत्या करने के प्रयास का आरोपी बनाया गया है। इस प्रयास के तहत उसने एक पुलिस अधिकारी की बंदूक छीनने की कोशिश की थी। नेवाडा की संघीय अदालत में दायर शिकायत के अनुसार, माइकल सेनफोर्ड ने ट्रेशर आइलैंड कसीनो के मिस्टेयर थियेटर में शनिवार को आयोजित रैली के दौरान एक अधिकारी से उसके हथियार छीनने की कोशिश की थी। इसके बाद इस युवक को काबू कर लिया गया था।
 
शूटिंग की ट्रेनिंग लेकर आया था
ऐसा माना जा रहा है कि इस युवक ने अपनी गिरफ्तारी के बाद सीक्रेट सर्विस के एक एजेंट को बताया कि वह ‘ट्रंप को मारने के लिए’ केलिफोर्निया से लॉस वेगास आया है और गोली चलाना सीखने के लिए वह एक दिन पहले शूटिंग रेंज में भी गया था, क्योंकि उसने पहले कभी गोली नहीं चलाई है।
 
दो बार मारने का प्रयास करने की योजना थी
शिकायत में कहा गया, ‘‘सेनफोर्ड जानता था कि वह एक से दो गोलियां ही चला पाएगा और उसने यह कहा है कि उसे पता था कि ट्रंप की जान लेने की कोशिश में वह खुद कानून प्रवर्तन अधिकारियों के हाथों मारा जाएगा।’’ शिकायत में कहा गया कि सेनफोर्ड ने जांचकर्ताओं को बताया था कि उसने फीनिक्स में रैली के लिए टिकट खरीदे थे। उसकी योजना यह थी कि यदि लॉस वेगास में ट्रंप को मारने का प्रयास विफल रहता है तो वह फीनिक्स वाली रैली में ‘एक बार फिर ट्रंप को मारने का प्रयास करेगा।’

दोबारा कोशिश कर सकता है इसलिए नहीं मिली जमानत
अभियोजक कार्यालय ने कहा कि सेनफोर्ड को खतरनाक मानते हुए और उसके भाग जाने की संभावना को देखते हुए उसे बिना मुचलके के हिरासत में रखने का आदेश जारी किया गया है। शिकायत के अनुसार, सेनफोर्ड ने जांचकर्ताओं को बताया कि उसने अधिकारी अमील जैकब की बंदूक को हासिल करने की कोशिश इसलिए की क्योंकि वह बंद करके नहीं रखी हुई थी। रैली में घुसने से पहले होने वाली मेटल डिटेक्टर जांच को देखते हुए रैली के दौरान इस तरह से हथियार हासिल करना सबसे आसान तरीका था। शिकायत के अनुसार, सेनफोर्ड ने कहा कि यदि वह कल सड़क पर आता है तो ऐसा करने की कोशिश दोबारा करेगा।
 
संवेदनशील समय हुई है ये गिरफ्तारी
सेनफोर्ड की गिरफ्तारी एक ऐसे समय पर की गई है जब अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए हाल के इतिहास का सबसे घृणित चुनाव अभियान जारी है। इसमें हिंसक भाषणबाजी की जा रही है, जिसमें ट्रंप मेक्सिको के लोगों, मुस्लिमों और अन्य समूहों को निशाना बना रहे हैं।  ट्रंप की रैलियों में दंगा पुलिस तैनात रही है और हाल की रैलियों के दौरान कई प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया है। हाल के महीनों में ट्रंप की रैलियों के दौरान प्रदर्शन बढ़ गए हैं।




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Delhi Election 2020: अरविंद केजरीवाल ने किया वादा, सरकार बनने पर इन 10 कामों की गारंटी

Advertisement