एयर इंडिया के विमान कनिष्‍क में बम ब्‍लास्‍ट का दोषी रिहा, धमाके में मारे गए थे 331 लोग

एयर इंडिया के विमान कनिष्‍क में बम ब्‍लास्‍ट का दोषी रिहा, धमाके में मारे गए थे 331 लोग

इंद्रजीत सिंह रेयत को जेल से रिहाई के बाद सुधार गृह में रखा गया था.

ओटावा:

साल 1985 में एयर इंडिया के विमान कनिष्क में हुए बम धमाके लिए दोषी ठहराए गए इंद्रजीत सिंह रेयत को रिहा कर दिया गया है. कनाडा के पैरोल बोर्ड ने यह जानकारी दी. इस बम धमाके में 331 लोगों की मौत हो गई थी.

इंद्रजीत सिंह रेयत को जेल से रिहाई के बाद सुधार गृह में रखा गया था. करीब दो दशक तक सलाखों के पीछे रहने के बाद एक साल पहले ही रेयत को सुधार गृह भेजा गया था.

पैरोल बोर्ड के प्रवक्ता पैट्रिक स्टोरे ने बताया कि 'ये बंदिश अब हटा दी गई है और रेयत सामान्य जिंदगी जी सकता है, निजी आवास में भी रह सकता है'.

Newsbeep

इंद्रजीत सिंह को वैंकूवर से उड़ान भरने वाले दो विमानों में रखे गए बमों को बनाने और अदालत में सह आरोपी को बचाने के लिए झूठ बोलने का दोषी पाया गया था. एयर इंडिया की उड़ान 182- कनिष्क- में रखा पहला बम आयरलैंड में तट के पास फटा, जिससे विमान में सवार 329 लोगों की मौत हो गई थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दूसरा बम जापान के नारिता एयरपोर्ट पर उस वक्त फटा, जब दो कार्गो कर्मचारी सामान को एयर इंडिया के ही दूसरे विमान में रख रहे थे. इस धमाके में दोनों कर्मचारियों की मौत हो गई थी. (इनपुट एएफपी से)