NDTV Khabar

80-वर्षीय डॉक्टर की गंदी करतूत : अपने ही स्पर्म से पैदा करवाता था निःसंतान महिलाओं के बच्चे

ओन्टारियो डिसिप्लिनरी पैनल के कॉलेज ऑफ फिज़िशियन्स एंड सर्जन्स ने बर्नार्ड नॉरमन बारविन के व्यवहार को 'भयावह' तथा 'निंदनीय' मानते हुए उस पर 10,000 कनाडाई डॉलर का जुर्माना भी लगाया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
80-वर्षीय डॉक्टर की गंदी करतूत : अपने ही स्पर्म से पैदा करवाता था निःसंतान महिलाओं के बच्चे

प्रतीकात्मक तस्वीर.

ओटावा:

कनाडा में मंगलवार को एक फर्टिलिटी डॉक्टर का लाइसेंस रद्द कर दिया गया, क्योंकि वह पिछले कई दशक से अपने मरीज़ों को इन्सैमिनेट (inseminate) करने के लिए खुद के शुक्राणुओं (sperm) सहित गलत शुक्राणुओं का इस्तेमाल करता आ रहा था. ओन्टारियो डिसिप्लिनरी पैनल के कॉलेज ऑफ फिज़िशियन्स एंड सर्जन्स ने बर्नार्ड नॉरमन बारविन के व्यवहार को 'भयावह' तथा 'निंदनीय' मानते हुए उस पर 10,000 कनाडाई डॉलर का जुर्माना भी लगाया है.

मेडिकल नियामक ने अपने फैसले में कहा, "आपने (अपने मरीज़ों से) विश्वासघात किया और अपने कृत्यों से व्यक्तियों व उनके परिवारों पर बहुत गहरा असर डाला है, और ऐसी अपूरणीय क्षति पहुंचाई है, जो कई पीढ़ियों तक बनी रहेगी..."

80-वर्षीय डॉक्टर बर्नार्ड नॉरमन बारविन खुद सुनवाई के दौरान उपस्थित नहीं हुआ, लेकिन उसने अपने वकीलों के ज़रिये मुकदमा नहीं लड़ने की बात कही थी.


बर्नार्ड नॉरमन बारविन अपना मेडिकल लाइसेंस वर्ष 2014 में ही छोड़ चुका है, जब उसे कृत्रिम रूप से तीन महिलाओं को गलत शुक्राणुओं से इन्सैमिनेट करने के एक पुराने केस में चेताया गया था. उस वक्त डॉक्टर ने इसे सामान्य गलती बताया था.

अब उसका लाइसेंस रद्द किए जाने से अन्य मेडिकल नियामकों को सतर्क किया जाएगा, ताकि वह किसी अन्य इलाके में मेडिकल प्रैक्टिस नहीं कर सके. बारविन के खिलाफ एक और मामला चल रहा है, जिसमें गलत शुक्राणुओं के ज़रिये 50-100 प्रसव करवाने का आरोप है, जिनमें से 11 मामलों में उसने खुद के शुक्राणु इस्तेमाल किए थे.

उसकी गलत हरकतें तब सामने आईं, जब इन्सैमिनेशन से पैदा हुए एक बच्चे को अपनी पारिवारिक पृष्ठभूमि जानने की उत्सुकता जगी, और एक अन्य को सीलियाक रोग से पीड़ित पाया गया, जो सिर्फ आनुवंशिक होती है, तथा उसके माता-पिता में से किसी को भी वह रोग नहीं था.

रेबेका डिक्सन ने कहा कि उसे तीन साल पहले 25 साल की उम्र में पता चला कि बर्नार्ड नॉरमन बारविन ही उसका जैविक पिता है. उसका कहना था कि यह सुनकर उसे खुद से 'घृणा' हो गई, और उसे ऐसा महसूस होने लगा, जैसे उसमें 'ज़हर' घोल दिया गया हो. पीड़ित के रूप में बयान के दौरान रेबेका ने कहा, "बस, उसी क्षण मेरी ज़िन्दगी पूरी तरह बदल गई... कुछ समय के लिए तो मुझे अपना चेहरा भी अन्जाना लगने लगा, जैसे आईने से झांकता चेहरा पूरी तरह मेरा नहीं है..." रेबेका के अनुसार, इस बात का पता चलने से मेरा परिवार भी तनाव में आ गया.

रेबेका ने कहा, स्वास्थ्य की गंभीर समस्याओं से जूझ रहे उसके पिता को "यह कबूल करने में काफी दिक्कतें हुईं कि जिस बच्ची को वह अब तक पालते-पोसते और प्यार करते रहे, दरअसल वह उसके जैविक पिता नहीं हैं... मेरी मां को भी यह सच्चाई को महसूस करना पड़ा कि उनके शरीर के साथ कुछ हुआ, जिसकी उन्हें जानकारी नहीं थी, जिसकी उन्होंने अनुमति नहीं दी थी..."

टिप्पणियां

रेबेका डिक्सन ने कहा, "भीड़ में होने पर मैं खुद भी लोगों के चेहरों की ओर देखने लगी थी, और मिलते-जुलते चेहरे तलाश करने लगी थी, जो मेरे सौतेले भाई-बहन हो सकते थे..."

उसका कहना है कि वह अब तक सौतेले भाई-बहन तलाश चुकी है, और यह संख्या बढ़ने की उम्मीद है.



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement