NDTV Khabar

मंगल ग्रह पर एलियन की तलाश करेगी एक छोटी प्रयोगशाला

वैज्ञानिकों ने मंगल ग्रह के रोवर के लिए एक छोटी प्रयोगशाला बनाई है, जो इस लाल ग्रह की भूमि की खुदाई करके यहां पहले या मौजूदा समय के जीवन के चिह्न तलाशने का काम करेगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मंगल ग्रह पर एलियन की तलाश करेगी एक छोटी प्रयोगशाला

फाइल फोटो

खास बातें

  1. मंगल ग्रह पर एलियन की तलाश होगी शुरू
  2. एक छोटी प्रयोगशाला करेगी तलाश
  3. नासा भी इस अभियान में अहम योगदान दे रही है
वाशिंगटन:

वैज्ञानिकों ने मंगल ग्रह के रोवर के लिए एक छोटी प्रयोगशाला बनाई है, जो इस लाल ग्रह की भूमि की खुदाई करके यहां पहले या मौजूदा समय के जीवन के चिह्न तलाशने का काम करेगी. इस छोटी रसायन प्रयोगशाला को मार्स ऑर्गेनिक मोलिक्यूल एनालाइजर (एमओएमए) कहा जा रहा है और यह एक्सोमार्स रोवर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. यह यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी और रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रॉस्कोजमोस का संयुक्त मिशन है और अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा भी इस अभियान में अहम योगदान दे रही है. 

यह भी पढ़ें: नासा 2020 में मंगल पर भेजेगा स्वायत्त हेलीकॉप्टर

टिप्पणियां

यह जुलाई, 2020 में मार्स की तरफ प्रक्षेपित की जाएगी. नासा के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर के प्रोजेक्ट वैज्ञानिक विल ब्रिनकरहोफ ने बताया, “ एक्सोमार्स रोवर की दो मीटर गहरी खुदाई करने वाली ड्रिल एमओएमए को काफी प्राचीन समय से यहां मौजूद हो सकने वाले जटिल कार्बनिक यौगिकों की जानकारी देगी. इससे यह पता लगेगा कि मंगल ग्रह पर जीवन की उत्पत्ति हुई थी या नहीं.” 


VIDEO: मंगल ग्रह पर भी बहता है पानी, नासा को पहली बार मिले स्‍पष्‍ट संकेत
हालांकि, मंगल ग्रह का वातावरण मौजूदा समय में ऐसा नहीं है कि यहां जीवन पनपे लेकिन काफी प्राचीन समय में मंगल के मौसम में तरल जल होने के सबूत मिले हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement