अफगानिस्तान में विस्फोट में चार बच्चों समेत आठ लोगों की मौत

उत्तरी अफगानिस्तान में सुरक्षा बलों को निशाना बनाने के लिए सड़क के किनारे किया गया विस्फोट

अफगानिस्तान में विस्फोट में चार बच्चों समेत आठ लोगों की मौत

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • हमले की जिम्मेदारी तत्काल किसी ने नहीं ली
  • तालिबान विदेशी एवं अफगान बलों को बनाता है निशाना
  • इस साल छह माह में आईईडी की वजह से 877 आम लोग हताहत हुए
मजार-ए-शरीफ:

उत्तरी अफगानिस्तान में सुरक्षा बलों को निशाना बनाने के लिए बुधवार को सड़क किनारे किए गए एक विस्फोट की चपेट में आने से चार बच्चों समेत आठ लोगों की मौत हो गई.

बल्ख प्रांत के शोलगारा जिले में बुधवार को तड़के हुए विस्फोट में छह अन्य जख्मी भी हुए हैं.    प्रांतीय पुलिस के उप प्रमुख अब्दुल राज़क कादेरी ने एएफपी को बताया कि वे जिले के मध्य की ओर जा रहे थे तभी उनकी गाड़ी विस्फोट की चपेट में आ गई. उन्होंने कहा कि मृतकों में चार बच्चे शामिल हैं.    

यह भी पढ़ें : अफगानिस्तान : तालिबान के हमलों में 4 महिलाएं सहित 12 लोग मारे गए

जिला गवर्नर आमिर मोहम्मद वकार ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि अफगान सुरक्षा बलों को निशाना बनाने के लिए आतंकवादियों ने बम लगाया था. हमले की जिम्मेदारी तत्काल किसी ने नहीं ली है लेकिन तालिबान, विदेशी एवं अफगान बलों और सरकारी अधिकारियों को ले जा रही गाड़ियों को निशाना बनाने के लिए आईईडी से निशाना बनाता है.    

VIDEO : भारतीय इंजीनियर का अपहरण

अफगानिस्तान में 17 साल से चल रहे संघर्ष का दंश सबसे ज्यादा आम लोगों ने झेला है. वे सबसे ज्यादा संख्या में हताहत हुए हैं. वर्ष 2018 के पहले छह महीने में आईईडी की वजह से 877 आम लोग हताहत हुए हैं. 232 लोगों की जान गई थी और 645 जख्मी हुए.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com