NDTV Khabar

आतंकवाद से परेशान पड़ोसियों ने पाकिस्‍तान पर बढ़ाया दबाव...

भारत ही नहीं बल्कि पाकिस्तान के दूसरे पड़ोसी भी पाकिस्तान में पल रहे आतंक से परेशान हैं क्योंकि वो भी उसका खमियाजा भुगत रहे हैं.

363 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
आतंकवाद से परेशान पड़ोसियों ने पाकिस्‍तान पर बढ़ाया दबाव...

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

नई दिल्‍ली:

कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में CRPF के 40 जवान शहीद हुए. इस हमले की ज़िम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है. इसका सरगना मसूद अज़हर पाकिस्तान में बैठ भारत में हमले करवा रहा है. भारत ने पाकिस्तान को साफ कहा है कि वो अपनी ज़मीन पर पल रहे आतंकी संगठनों पर रोक लगाए लेकिन पाकिस्तान आरोपों से साफ इंकार कर रहा है. हालांकि सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पाकिस्तान के दूसरे पड़ोसी भी पाकिस्तान में पल रहे आतंक से परेशान हैं क्योंकि वो भी उसका खमियाजा भुगत रहे हैं.

अफगानिस्तान लंबे समय से आतंक से ग्रसित रहा है और वहां हमले करने वाले कई आतंकी संगठन पाकिस्तान में सुरक्षित बैठे हैं. अब अफगानिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से गुहार लगाई है कि पाकिस्तान सरकार बिना अफगानिस्तान को शामिल किए तालिबान प्रतिनिधियों से उच्च स्तरीय बैठक कर रही है. इन तालिबान प्रतिनिधियों पर UN की रोक लगी हुई है और इस तरह की बातचीत अफगानिस्तान की सुरक्षा और स्थिरता के लिए खतरा है. साथ ही उसने कहा कि सुरक्षा परिषद पाकिस्तान को अपनी ज़मीन पर पलने वाले आतंकवादी और चरमपंथी गुटों पर सख्त कार्रवाई करने को कहे. ये गुट अफगानिस्तान, पाकिस्तान और पूरे क्षेत्र के लिए खतरा हैं.

क्रिकेट क्लब आफ इंडिया ने भी जताया पुलवामा हमले का विरोध, इमरान खान की फोटो को ढका


दूसरी तरफ ईरान ने दक्षिण-पूर्व इरान के ज़ाहेदान में Islamic Revolution Guards Corps (IRGC) पर आतंकी हमले के मामले में पाकिस्तान के राजदूत को तलब किया. इस आतंकी हमले में एक कार बम से इन सैनिकों के काफिले पर हमला किया गया. इस हमले में 27 ईरानी सैनिक मारे गए और 13 घायल हुए. ये इलाका ईरान-पाकिस्तान सीमा के पास है. इस हमले की ज़िम्मदारी जैश-अल-अद्ल ने ली है जिसके तार पाकिस्तान से जुड़े हैं.

पुलवामा हमला: पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट में डालने के लिए भारत ने बनाया यह प्लान

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ईरान के विदेश मंत्री जवाद ज़ारिफ से फोन पर बात कर जांच में सहयोग की पेशकश की. इस बीच भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज यूरोप जाते हुए रास्ते में थोड़ी देर के लिए ईरान में रुकीं और वहां के उप विदेश मंत्री से मुलाकात की. इस मुलाकात में ज़ाहेदान और श्रीनगर हमलों के बारे में बात हुई.

टिप्पणियां

भारत आतंक के मुद्दे पर लगातार पाकिस्तान को अलग-थलग करने की कोशिश में जुटा है और इसमें पाकिस्तान के बाकी पड़ोसियों के सामने भी सबूत रख रहा है. ये मुलाकात इस लिहाज़ से अहम मानी जा रही है.

VIDEO: आतंकी हमले के चश्मदीद जवानों से खास बातचीत


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement