NDTV Khabar

कश्मीर पर दिए बयान को लेकर अफगानिस्तान की पाक को लताड़, कहा- 'लापरवाह, गैर-जिम्मेदाराना' बयानबाजी

कश्मीर पर दिए बयान को लेकर अफगानिस्तान ने भी अब पाकिस्तान को लताड़ लगाई है. अफगानिस्तान की एक शीर्ष राजदूत ने कहा है कि कश्मीर के हालात को अफगानिस्तान में शांति समझौते के लिए जारी प्रयासों से जोड़ाना, 'दुस्साहसी, अनुचित और गैर-जिम्मेदाराना' है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कश्मीर पर दिए बयान को लेकर अफगानिस्तान की पाक को लताड़, कहा- 'लापरवाह, गैर-जिम्मेदाराना' बयानबाजी

अफगानिस्तान ने कहा कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मामला है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. अफगानिस्तान ने पाकिस्तान को लगाई लताड़
  2. कश्मीर को भारत-पाक का द्विपक्षीय मुद्दा बताया
  3. 'कश्मीर मामले में अफगानिस्तान को जोड़ना अनुचित'
वाशिंगटन:

कश्मीर (Kashmir News) पर दिए बयान को लेकर अफगानिस्तान ने भी अब पाकिस्तान को लताड़ लगाई है. अफगानिस्तान की एक शीर्ष राजदूत ने कहा है कि कश्मीर के हालात को अफगानिस्तान में शांति समझौते के लिए जारी प्रयासों से जोड़ाना, 'दुस्साहसी, अनुचित और गैर-जिम्मेदाराना' है. अमेरिका में अफगानिस्तान की राजदूत रोया रहमानी ने कहा, 'इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ अफगानिस्तान' अमेरिका में पाकिस्तान के राजदूत असद मजीद खान के उस दावे पर कठोरता से सवाल उठाता है कि कश्मीर में जारी तनाव अफगानिस्तान की शांति प्रक्रिया को काफी प्रभावित कर सकता है.'

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर के हालात को लेकर NSA अजित डोभाल और IB चीफ से मिले गृहमंत्री अमित शाह


उन्होंने कहा, 'ऐसा कोई बयान जो कश्मीर के हालात को अफगान शांति प्रयासों से जोड़ता है वह दुस्साहसी, अनुचित और गैर-जिम्मेदाराना है.' कश्मीर (Kashmir) को भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मामला बताते हुए रहमानी ने कहा कि उनके देश का मानना है कि कश्मीर मुद्दे से अफगानिस्तान को जानबूझकर जोड़ने का पाकिस्तान का मकसद अफगान की धरती पर जारी हिंसा को और बढ़ाना है.

यह भी पढ़ें: केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह बोले- आइए आगे बढ़ें, पाकिस्तान के कब्जे से PoK आजाद कराते हैं

रहमानी ने कहा कि उनके पाकिस्तानी समकक्ष का बयान उन सकारात्मक और रचनात्मक मुलाकात के ठीक विपरीत है जो अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी की हालिया यात्रा के दौरान उनके, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान तथा पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के बीच हुई थी. 

यह भी पढ़ें: पूर्व सैन्य अधिकारियों और नौकरशाहों ने आर्टिकल 370 पर सरकार के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती

उधर, दो दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अफगानिस्तान शांति वार्ता पर राष्ट्रीय सुरक्षा की अपनी टीम के साथ बैठक की थी. न्यू जर्सी के बेडमिंस्टर स्थित ट्रंप के गोल्फ रिसॉर्ट में शुक्रवार को हुई बैठक में उपराष्ट्रपति माइक पेंस, विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन एवं अन्य लोगों ने हिस्सा लिया था. बैठक के तुरंत बाद राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, '19 वर्ष से चल रहे युद्ध में दूसरे पक्ष के कई लोग और हमें समझौते की उम्मीद है -अगर ऐसा संभव हुआ.' व्हाइट हाउस के मुताबिक वर्तमान समझौते और तालिबान तथा अफगानिस्तान की सरकार के बीच शांति और मेल-मिलाप को लेकर चर्चा हुई. 

टिप्पणियां

श्रीनगर में 190 स्कूल खुले, जानें- अनुच्छेद 370 हटने के दो हफ्ते बाद कैसे हैं घाटी में हालात

VIDEO: घाटी से धीरे-धीरे हट रही है पाबंदियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement