NDTV Khabar

तबाही मचाते हुए आगे बढ़ रहा है इरमा, 177 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलीं हवाएं

इस तूफान के कारण 177 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तबाही मचाते हुए आगे बढ़ रहा है इरमा,  177 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलीं हवाएं

(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. इरमा तूफान फ्लोरिडा की मुख्यभूमि में पहुंच गया है.
  2. ट्रंप ने कहा कि ‘हम शायद थोड़े भाग्यशाली हैं
  3. मियामी में इस तूफान ने बहुत तबाही मचाई है और ब्रिकेल में बाढ़ आ गई है.
फ्लोरिडा में इरमा तूफान ने अपना कहर बरपा रखा है और ये तूफान आगे बढ़ रहा है.राज्य की एक तिहाई जनसंख्या यानी 60 लाख लोगों को तूफान के मार्ग से हटने के आदेश दिए गए हैं. कीज से गुजरने के बाद इरमा श्रेणी दो के तूफान के रूप में कमजोर हो गया है. इस तूफान के कारण 177 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं. फ्लोरिडा के कीज द्वीप पर पहुंचने के कुछ ही घंटों बाद तूफान रविवार को अंतरराष्ट्रीय समयानुसार शाम सात बजकर 35 मिनट पर फ्लोरिडा के ही मार्को द्वीप पहुंचा. फ्लोरिडा के गर्वनर रिक स्कॉट ने एनबीसी के ‘मीट द प्रेस’ में कहा, ‘यह खतरनाक होने वाला है.’ अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने होमलैंड सिक्योरिटी और आपातकाल सेवा अधिकारियों द्वारा कैबिनेट को जानकारी दिए जाने के बाद कहा कि वे ‘जल्द ही’ राज्य का दौरा करेंगे.

यह भी पढे़ं : इरमा तूफान से मची तबाही के बाद सभी भारतीय सुरक्षित : सुषमा स्वराज

उन्होंने कहा, ‘अभी हम नुकसान के बजाए लोगों के जीवन को लेकर अधिक चिंतित हैं.’ इरमा अपना मूल मार्ग बदलकर पूर्व के बजाए फ्लोरिडा के पश्चिमी तट की ओर बढ़ गया है. ट्रंप ने कहा कि ‘हम शायद थोड़े भाग्यशाली हैं’ और संभवत: यह मार्ग कम विनाशकारी होगा. मियामी में इस तूफान ने बहुत तबाही मचाई है और ब्रिकेल में बाढ़ आ गई है. इस तूफान के कारण कम से कम 30 लोगों की मौत हुई है जिनमें से तीन लोग फ्लोरिडा के है. ट्रंप ने विनाशकारी इरमा से मची तबाही से उबरने में मदद के लिए आपाताकालीन संघीय सहायता मुहैया कराने का फ्लोरिडा का अनुरोध स्वीकार कर लिया है.

वीडियो : सुप्रीम कोर्ट ने मांगी रिपोर्ट
इस बीच, ‘एपी’ की खबर के अनुसार फ्रांसीसी सरकार ने इरमा के कारण प्रभावित कैरेबियाई द्वीप के सेंट मार्टिन और सेंट बार्ट्स द्वीपों में राहत एवं बचाव कार्य को लेकर अपना बचाव करते हुए राजनीतिक विरोधियों और द्वीपों के निवासियों की आलोचना खारिज कर दी है, जिनका कहना है कि उन्हें फ्रांसीसी सरकार ने इस मुश्किल समय में छोड़ दिया. फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा कि वह इरमा से प्रभावित द्वीपों की मदद के लिए अपनी प्रतिबद्धता दर्शाने के लिए मंगलवार को सेंट मार्टिन जाएंगे.

टिप्पणियां
इनपुट :भाषा

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement