अमेरिका के प्रतिबंधों को चुनौती देते हुए मिसाइल युद्धाभ्यास करेगा ईरान

अमेरिका के प्रतिबंधों को चुनौती देते हुए मिसाइल युद्धाभ्यास करेगा ईरान

ईरान के मिसाइल कार्यक्रम से अमेरिका नाराज है...

तेहरान:

ईरान गत सप्ताह बैलिस्टिक मिसाइल के परीक्षण को लेकर अमेरिका द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के एक दिन बाद शनिवार को उसे चुनौती देते हुए रेवोल्यूशनरी गार्ड के युद्धाभ्यास के लिए मिसाइलों को तैनात करेगा. रेवोल्यूशनरी गार्ड की सेपाहन्यूज वेबसाइट ने बताया कि उत्तरपूर्वी सेमनान प्रांत में युद्धाभ्यास का मकसद ‘‘खतरों से निपटने के लिए पूरी तैयारी’’ प्रदर्शित करने के लिए और अमेरिका की ओर से लगाए गए ‘‘अपमानजनक प्रतिबंधों’’ के खिलाफ है.

वेबसाइट ने कहा, ‘‘इस अभ्यास में स्वदेश निर्मित विभिन्न तरह के रडार और मिसाइल तंत्र, कमान और नियंत्रण केन्द्रों और साइबर युद्ध तंत्रों का इस्तेमाल किया जाएगा.’’ वेबसाइट ने बाद में तैनात की जाने वाली मिसाइलों की सूची प्रकाशित की जो 75 किलोमीटर तक की कम दूरी तय करने वाली मिसाइलें हैं.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों के परीक्षण और यमन के विद्रोहियों को समर्थन देने को लेकर कल ईरान पर नए प्रतिबंध लागू किये थे. यमन के विद्रोहियों ने हाल ही में सउदी अरब के एक युद्धपोत को निशाना बनाया था.

ईरान के विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘‘अमेरिका के नए कदमों के जवाब में ईरान इस क्षेत्र में आतंकवादी संगठनों की मदद करने में उनकी भूमिका के लिए कुछ अमेरिकी लोगों और कंपनियों पर कानूनी सीमाएं लागू करेगा.’’ इन लोगों के नामों की सूची बाद में प्रकाशित की जाएगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com