NDTV Khabar

इंडोनेशिया से सिंगापुर जा रहा एयर एशिया का विमान लापता, 162 लोग थे सवार

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इंडोनेशिया से सिंगापुर जा रहा एयर एशिया का विमान लापता, 162 लोग थे सवार
जकार्ता:

इंडोनेशिया से सिंगापुर जा रहा एयर एशिया का विमान रविवार को मेघगर्जन और तूफान के बीच अचानक लापता हो गया। विमान में 162 यात्री सवार थे। खराब मौसम की वजह से विमान का संपर्क नियंत्रण कक्ष से टूट गया। अधिकारियों ने बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू किया है।

मलेशिया की विमानन कंपनी एयर एशिया के उड़ान संख्या क्यूजेड 8501 वाले विमान ने तड़के 7.24 बजे (सिंगापुर समय) इंडोनेशिया के सुरबाया शहर से उड़ान भरी थी। उसे सुबह 8.30 बजे सिंगापुर के चांगी हवाईअड्डे पर उतरना था। एयरएशिया भारतीय मूल की एक मलेशियाई कंपनी है।

इंडोनेशिया के अधिकारियों ने कहा कि कलीमंतन और बेलितुंग द्वीप के बीच हवाई यातायात नियंत्रण कक्ष से संपर्क टूटने से पहले पायलट ने विमान को वैकल्पिक मार्ग से गुजरने की अनुमति मांगी थी। उस समय विमान इंडोनेशियाई क्षेत्र में स्थित जावा समुद्र पर 32,000 फुट ऊपर उड़ रहा था।

इंडोनेशिया के परिवहन मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, 'मौसम ठीक नहीं था। जिस जगह पर विमान से संपर्क टूटा, वहां मौसम खराब था।' विमान में चालक दल सहित 162 लोग सवार हैं। विमान में इंडोनेशिया के 156, दक्षिण कोरिया के तीन, एक फ्रांसीसी, एक मलेशियाई और एक सिंगापुर का नागरिक सवार है।

विमान से संपर्क टूटते ही इंडोनेशिया और सिंगापुर की वायुसेना और नौसेना ने जावा समुद्र में व्यापक तलाशी अभियान शुरू किया। हालांकि रात हो जाने के बाद रविवार को अभियान रोक दिया गया। परिवहन मंत्रालय ने कहा कि अभियान सोमवार को दोबारा शुरू किया जाएगा।

इस बीच ऑस्ट्रेलिया और मलेशिया ने बचाव कार्य में सहायता की पेशकश की है। समाचारपत्र 'द स्टार' के अनुसार, मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब तुन रज्जाक ने कहा कि विमान उड़ान भरने के 42 मिनट बाद रडार की पहुंच से दूर हो गया। उनके हवाले से कहा गया, 'इसका मतलब विमान के साथ कुछ अप्रिय होने की आशंका है।'

एयर एशिया सीईओ ने टोनी फर्नांडीज मलेशिया से सुराबाया पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा, 'मेरी प्रार्थना पीड़ित परिजनों के साथ है।'

एयर एशिया ने विमान में सवार यात्रियों के परिजनों और मित्रों के लिए आपातकालीन केंद्र शुरू किया है और एक हेल्पलाइन नंबर +622129850801 जारी किया है।

विमान के लापता होने की यह घटना तब हुई है, जब लोग पहले ही इस साल हुए दो मलेशियाई विमान हादसे की कड़वी यादों को नहीं भुला पाए हैं।

मलेशिया की राष्ट्रीय विमाननन कंपनी, मलेशिया एयरलाइंस इस साल अपने दो विमान गंवा चुकी है। आठ मार्च को उड़ान संख्या एमएच 370 वाले विमान ने कुआलालंपुर से बीजिंग के लिए उड़ान भरा था और यह चालक दल के सदस्य सहित लापता हो गया था। इसमें 239 लोग सवार थे। इसी तरह 17 जुलाई को एमएच 17 उड़ान को यूक्रेन में आसमान में मार गिराया गया था। इसमें 298 लोग सवार थे।

एयर एशिया ने वर्तमान मालिकाना हक के तहत 2001 से अपना संचालन शुरू किया था और यह 88 शहरों के लिए उड़ान संचालित करती है। भारत में इसकी पहली उड़ान 11 जून को बेंगलुरू से पंजिम के बीच हुई थी। कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा कि एयर एशिया की भारत-मलेशिया संयुक्त उद्यम कंपनी भारत में बेंगलुरू, जयपुर, चेन्नई, कोच्चि, चंडीगढ़, पुणे और गोवा के लिए उड़ान संचालित करती है।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement