कहीं हिंद महासागर में मिला रहस्यमयी मलबा, लापता मलेशियाई विमान का तो नहीं?

कहीं हिंद महासागर में मिला रहस्यमयी मलबा, लापता मलेशियाई विमान का तो नहीं?

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

वाशिंगटन :

वायु सुरक्षा जांचकर्ताओं को 'पूरा विश्वास' है कि हिंद महासागर में जिस विमान का मलबा पाया गया है, वह बोइंग 777 के पंख के हिस्से जैसा है। मलबे में पाया गया हिस्सा उसी विमान मॉडल का है, जिस मॉडल का मलेशिया एयरलाइन्स का विमान पिछले साल लापता हो गया था। यह जानकारी एक अमेरिकी अधिकारी ने दी है।

वायु सुरक्षा जांचकर्ताओं (इनमें से एक बोइंग जांचकर्ता) ने विमान के इस अंश की पहचान 777 के पंख के 'फ्लैपेरॉन' के रूप में की है।

मलबे की जांच से जुड़े एक फ्रांसिसी अधिकारी ने कल इस बात की पुष्टि की कि फ्रांसिसी कानून प्रवर्तन पश्चिमी हिंद महासागर में फ्रांसिसी द्वीप रीयूनियन में पाए गए विमान के पंख के टुकड़े की जांच कर रहा है।

एक फ्रांसिसी टीवी नेटवर्क रीयूनियन से मलबे से जुड़ी वीडियो का प्रसारण कर रहा था। अमेरिकी जांचकर्ता मलबे की तस्वीर की जांच कर रहे हैं।

गूगल मैप के अनुसार, मलेशियाई विमान सेवा के विमान 370 का अंतिम बार रडार से संपर्क अंडमान समुद्र के उपर हुआ था, जोकि मलेशियाई शहर पेनांग से 230 मील उत्तरपश्चिम में था। फ्रांसिसी द्वीप रीयूनियन पेनांग से 3500 मील दक्षिण पश्चिम में है।

अमेरिकी और फ्रांसिसी अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर यह बात कही, क्योंकि वे सार्वजनिक तौर पर बोलने के अधिकारी नहीं थे।

Newsbeep

संयुक्त राष्ट्र में, मलेशियाई परिवहन मंत्री लिओ तियोंग लाई ने बताया कि उन्होंने विमान के मलबे की पहचान सुनिश्चित करने के लिए एक दल भेजा है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, 'विमान के मलबे को एमएच 370 का बताने से पहले हमें इसकी जांच करनी होगी।' उन्होंने कहा कि यदि विमान का यह हिस्सा उस लापता विमान का ही पाया जाता है तो यह उस व्याख्या के अनुरूप होगा, जिसमें कहा गया था कि विमान ऑस्ट्रेलिया से 1100 मील दक्षिणपश्चिम में 46 हजार वर्ग मील के दायरे में दुर्घटनाग्रस्त हुआ था।