अमेरिका चुनाव : H-1B वीजा धारकों पर नजर, कार्यबल प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए 1100 करोड़ की घोषणा

US ने देश की अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्रों में मध्यम से उच्च-कुशल H-1B व्यवसायों के लिए प्रशिक्षण में निवेश करने के लिए गुरुवार को 150 मिलियन डॉलर (1100 करोड़ से ज्यादा) की घोषणा की है.

अमेरिका चुनाव : H-1B वीजा धारकों पर नजर, कार्यबल प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए 1100 करोड़ की घोषणा

अमेरिका में इस साल राष्ट्रपति चुनाव होंगे. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • US ने की कार्यबल प्रशिक्षण कार्यक्रम की घोषणा
  • कार्यक्रम के लिए 1100 करोड़ देने का ऐलान
  • अमेरिका में इस साल होंगे राष्ट्रपति चुनाव
वॉशिंगटन:

अमेरिका (America Elections 2020) में इस साल राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने वाले हैं. इसके लिए 3 नवंबर को वोटिंग होगी. US ने देश की अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्रों में मध्यम से उच्च-कुशल H-1B व्यवसायों के लिए प्रशिक्षण में निवेश करने के लिए गुरुवार को 150 मिलियन डॉलर (1100 करोड़ से ज्यादा) की घोषणा की. श्रम विभाग ने बताया कि इन क्षेत्रों में सूचना प्रौद्योगिकी, साइबर सुरक्षा, उन्नत विनिर्माण और परिवहन प्रमुख हैं, जिसमें H-1B वीजा धारक के लिए अनुदान कार्यक्रम का उपयोग वर्तमान कार्यबल को बढ़ाने और भविष्य में कार्यबल को विकसित करने के लिए श्रमिकों की एक नई पीढ़ी को प्रशिक्षित करने के लिए किया जाएगा.

विभाग ने एक बयान में कहा कि कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) ने न केवल श्रम बाजार में व्यवधान पैदा किया है, बल्कि कई शिक्षा और प्रशिक्षण प्रदाताओं और नियोक्ताओं को भी इस बात पर पुनर्विचार करने के लिए मजबूर किया है कि प्रशिक्षण कैसे दिया जाए. इस कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण की रणनीति, प्रशिक्षण देने के नवीन साधनों के फायदे लेने के बारे में, ऑनलाइन, डिस्टैंस व अन्य माध्यमों के जरिए सीखने के बारे में बताया जाएगा.

स्थानीय सार्वजनिक-निजी भागीदारी के माध्यम से, अनुदानकर्ता अपने समुदायों में प्रमुख उद्योग क्षेत्रों के भीतर मध्यम से उच्च कुशल H-1B व्यवसायों में रोजगार के लिए आजीविका मार्ग को आगे बढ़ाने के लिए आवश्यक कौशल वाले व्यक्तियों को प्रदान करने के लिए प्रशिक्षण की तैनाती करेंगे. प्रशिक्षण मॉडल में कक्षा की एक विस्तृत श्रृंखला और ऑन-द-जॉब ट्रेनिंग, अनुकूलित प्रशिक्षण, अवलंबी कार्यकर्ता प्रशिक्षण, पंजीकृत शिक्षुता कार्यक्रम और उद्योग-मान्यता प्राप्त शिक्षुता कार्यक्रम शामिल होंगे.

गौरतलब है कि भारत सरकार ने हाल ही में बताया था कि अमेरिका में 14 सबसे बड़ी भारतीय प्रौद्योगिकी कंपनियों के लिए 2019-20 में प्रारंभिक रोजगार के लिए 6,663 H-1B वीजा को मंजूरी दी गई है.  इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री संजय धोत्रे ने उद्योग संगठन नासकॉम के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा, 'अमेरिका में 14 सबसे बड़ी भारतीय प्रौद्योगिकी कंपनियों को 2019-20 में प्रांरभिक रोजगार के लिए 6,663 H-1B वीजा मंजूर किए गए.' उन्होंने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि इन 14 कंपनियों को सभी भारतीय प्रौद्योगिकी कंपनियों को जारी H-1B वीजा के 85 से 90 प्रतिशत वीजा जारी किए गए.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com