H-1B Visa प्रक्रिया में बदलाव करेगा अमेरिका, लॉटरी सिस्टम की जगह 'वेतन-स्किल' को तवज्जो

एच-1बी वीजा वीजा एक गैर-आप्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों को विदेशी कर्मचारियों को विशिष्ट पदों पर रखने की अनुमति देता है.

H-1B Visa प्रक्रिया में बदलाव करेगा अमेरिका, लॉटरी सिस्टम की जगह 'वेतन-स्किल' को तवज्जो

अमेरिका एच-1बी वीजा की चयन प्रक्रिया में संशोधन करेगा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वाशिंगटन:

अमेरिका ने गुरुवार को ऐलान किया है कि वह एच-1बी वीजा (H-1B Visa) के लिए चयन की प्रक्रिया में बदलाव करेगा और नई प्रक्रिया में मौजूदा लॉटरी प्रक्रिया की जगह वेतन और कौशल (Salary & Skills) को तवज्जो दिया जाएगा. अधिकारियों ने बताया कि अंतिम नियम आठ जनवरी को फेडरल रजिस्टर में प्रकाशित होंगे. उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य अमेरिकी श्रमिकों के आर्थिक हितों की सुरक्षा करना है. साथ ही यह भी सुनिश्चित करना है कि अस्थायी रोजगार कार्यक्रम से उच्च दक्षता रखने वाले विदेशी कर्मचारियों को लाभ हो. 

एच-1बी वीजा वीजा एक गैर-आप्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों को विदेशी कर्मचारियों को विशिष्ट पदों पर रखने की अनुमति देता है. अमेरिका की तकनीकी कंपनियां इस वीजा के आधार पर भारत और चीन से हर साल हजारों की संख्या में कर्मचारियों की नियुक्ति करती हैं. 

अमेरिकी नागरिकता और आव्रजन सेवा ने कहा कि एच-1बी वीजा चयन प्रक्रिया में संशोधन से नियोक्ताओं को उच्च वेतन और उच्च पदों पर आवेदन जारी करने में प्रोत्साहन मिलेगा. साथ ही कंपनियों के लिए जरूरत के मुताबिक कर्मचारियों को रखने और खुद को वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाए रखने का रास्ता प्रशस्त होगा. 

अंतिम नियम फेडरल  रजिस्टर में प्रकाशित होने के 60 दिन बाद प्रभावी होंगे. एच-1बी  वीजा कार्यक्रम के लिए आवेदन करने का अगला चरण एक अप्रैल से शुरू हो रहा है. 


USCIS के डिप्टी डायरेक्टर फॉर पॉलिसी जोसेफ एडलो ने कहा, "H-1B अस्थायी वीजा कार्यक्रम का नियोक्ता दुरुपयोग कर रहे हैं. वे मुख्य रूप से एंट्री लेवल के पदों को भरने और अपनी कारोबारी लागत को घटाने में इसका इस्तेमाल कर रहे हैं."

वीडियो: 31 दिसंबर 2020 तक H1-B वीजा पर पाबंदी जारी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com