NDTV Khabar

परमाणु हथियार हासिल करने की फिराक में आतंकी संगठन, मदद करने वाले देशों को अमेरिका ने चेताया

राजनीतिक मामलों के उपमंत्री टॉन शेनॉन ने पेंटागन में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘अमेरिका परमाणु हथियार हासिल करने की कोशिश कर रहे आतंकवादियों का समर्थन करने वाले किसी भी गैर राजनीतिक या आतंकवादी संगठन की जवाबदेही तय करेगा.’’ इस संवाददाता सम्मेलन में ट्रंप प्रशासन ने 2018 न्यूक्लियर पोश्चर रिव्यू (एनपीआर) रिपोर्ट भी पेश की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
परमाणु हथियार हासिल करने की फिराक में आतंकी संगठन, मदद करने वाले देशों को अमेरिका ने चेताया

फाइल फोटो

नई दिल्ली: परमाणु हथियार  हासिल करने की फिराक में जुटे आतंकवादी संगठनों का किसी भी तरह से समर्थन करने वाले देशों को अमेरिका ने चेतावनी दी है. राजनीतिक मामलों के उपमंत्री टॉन शेनॉन ने पेंटागन में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘अमेरिका परमाणु हथियार हासिल करने की कोशिश कर रहे आतंकवादियों का समर्थन करने वाले किसी भी गैर राजनीतिक या आतंकवादी संगठन की जवाबदेही तय करेगा.’’ इस संवाददाता सम्मेलन में ट्रंप प्रशासन ने 2018 न्यूक्लियर पोश्चर रिव्यू (एनपीआर) रिपोर्ट भी पेश की.

पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार होने से युद्ध के निश्चित तौर पर नाभिकीय स्तर तक पहुंचने का खतरा : अमेरिकी थिंक टैंक

हालांकि ना तो सौ पृष्ठों की एनपीआर रिपोर्ट में और ना ही शेनॉन ने इस संबंध में ऐसे किसी भी देश की पहचान की जिसे आतंकवादी समूहों की मदद करते हुए देखा जा सकता है. अमेरिकी अधिकारी पाकिस्तान के परमाणु हथियार आतंकवादियों के हाथ लगने की आशंका को लेकर चिंता जताते रहे हैं. अमेरिका उसके परमाणु हथियारों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए इस्लामाबाद के साथ मिलकर काम करता रहा है और पाकिस्तान भी इन आशंकाओं को खारिज करता रहा है और उसका कहना है कि उनके परमाणु हथियार दुनिया में सबसे सुरक्षित हैं.

टिप्पणियां
वीडियो : भारत की अग्नि मिसाइल का 2015 में हुआ था परीक्षण

शेनॉन ने कहा कि परमाणु आतंकवाद 21वीं सदी में सबसे बड़ा खतरा बना हुआ है और देशों को इसे खत्म करने की जरुरत है.

इनपुट : भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement