NDTV Khabar

वाहन में महंगे लॉगिंग उपकरण पर रोक के लिए सिख ट्रक चालकों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से की अपील

18 दिसंबर से प्रभावी इस नए नियम के तहत सभी वाणिज्यिक ट्रकों में एक इलेक्ट्रॉनिक लॉगिंग डिवाइस (ईएलडी) लगाकर उसका संचालन करना होगा.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वाहन में महंगे लॉगिंग उपकरण पर रोक के लिए सिख ट्रक चालकों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से की अपील

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. इस डिवाइस से सेवा के सटीक घंटों का पता चलता है.
  2. यह उन ट्रकों पर लागू नहीं होगा जो छूट की श्रेणी में आते हैं.
  3. नए नियमों में 2 अरब अमेरिकी डॉलर का खर्च आएगा .
वाशिंगटन: अमेरिकी सिख ट्रक चालकों का प्रतिनिधित्व करने वाले एक समूह ने नए नियम के तहत ट्रकों में  लगाऐ जाने वाले महंगे उपकरण को लेकर अमेरिकी सरकार से एक अपील की है. अमेरिकी सिख ट्रक चालकों ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से एक नियम के प्रवर्तन को स्थगित करने की अपील की है. इस नियम के तहत चालकों का अपने वाहन में महंगा लॉगिंग उपकरण लगाना अनिवार्य होगा. 18 दिसंबर से प्रभावी इस नए नियम के तहत सभी वाणिज्यिक ट्रकों में एक इलेक्ट्रॉनिक लॉगिंग डिवाइस (ईएलडी) लगाकर उसका संचालन करना होगा. इस उपकरण में वह कितने घंटे ड्यूटी पर हैं और कितने घंटे नहीं यह जानकारी दर्ज होगी. यह उन ट्रकों पर लागू नहीं होगा जो छूट की श्रेणी में आते हैं.
 
एक ईएलडी किसी वाहन के इंजन के साथ तालमेल बिठाकर उसकी चालन अवधि को स्वत: दर्ज कर लेता है. इससे सेवा के सटीक घंटों का पता चलता है.

 यह भी पढे़ं : ओबामा के ट्वीट ने रचा इतिहास, आप भी जानें क्या लिखा था पूर्व राष्ट्रपति ने...

टिप्पणियां
उद्योग जगत की खबरों के मुताबिक इस तकनीक के विभिन्न वर्जन की कीमतें अलग-अलग हैं, सालाना 165 अमेरिकी डॉलर से लेकर 832 अमेरिकी डॉलर तक. सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली तकनीक का खर्च एक ट्रक पर 495 अमेरिकी डॉलर है.

VIDEO : अमेरिका में सिखों को कभी कभार झेलनी पड़ी है नस्लभेदी टिप्पणी
सिख पॉलिटिकल एक्शन कमिटी का कहना है कि नए नियमों में 2 अरब अमेरिकी डॉलर का खर्च आएगा और यह अनिवार्य शर्तों के तहत ' के लिए पर्याप्त विकसित नहीं है.' राष्ट्रपति को लिखे खत में पीएसी अध्यक्ष गुरिंदर सिंह खालसा ने उनसे इसे स्थगित करने की अपील की और कहा 'कृपया इलेक्ट्रॉनिकल लॉगिंग डिवाइस नियम की अनिवार्यता से छोटे व्यापार और ट्रक चालकों की रोजी रोटी को बचाएं.'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement