NDTV Khabar

भारत के साथ संबंध महत्वपूर्ण, राजदूत की नियुक्ति को प्राथमिकता दे ट्रंप सरकार : अमेरिकी सांसद

नई दिल्ली के साथ वाशिंगटन के संबंध बेहद महत्वपूर्ण हैं, इसलिए ऐसा करना आवश्यक है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत के साथ संबंध महत्वपूर्ण, राजदूत की नियुक्ति को प्राथमिकता दे ट्रंप सरकार : अमेरिकी सांसद

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. विशेषज्ञ केनिथ आई जस्टर (62) भारत में अमेरिका के नये राजदूत होंगे.
  2. सात महीने के कार्यकाल के बाद भी महत्वपूर्ण नियुक्ति लंबित है
  3. दक्षिण एशिया में भारत हमारा ‘मजूबत सहयोगी है
वाशिंगटन:

अमेरिका के एक प्रभावशाली सांसद ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से अनुरोध किया है कि वह भारत में अमेरिकी राजदूत की नियुक्ति को उच्च प्राथमिकता दें. उन्होंने तर्क दिया कि नई दिल्ली के साथ वाशिंगटन के संबंध बेहद महत्वपूर्ण हैं, इसलिए ऐसा करना आवश्यक है. 20 जनवरी को ट्रंप के अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने के बाद से ही भारत में अमेरिकी राजदूत का पद रिक्त है.

हालांकि व्हाइट हाउस ने जून में कहा था कि ट्रंप के आर्थिक सहयोगी और भारत पर विशेषज्ञ केनिथ आई जस्टर (62) भारत में अमेरिका के नये राजदूत होंगे.

यह भी पढे़ं : रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने निकोले कुदाशेव को भारत में रूस का नया दूत नियुक्त किया


सांसद फ्रैंक पालोन ने ट्रंप को एक पत्र में कहा, ‘कांग्रेसनल कॉकस ऑन इंडिया, इंडियन इश्यूज का सह-संस्थापक और पूर्व अध्यक्ष होने और संसद में सबसे बड़े भारतीय-अमेरिकी संसदीय क्षेत्रों में से एक का प्रतिनिधित्व करने के नाते दोनों महान देशों के बीच संबंध मेरे तथा मेरे संसदीय क्षेत्र दोनों के लिए अति महत्वपूर्ण हैं. मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि भारत में अमेरिकी राजदूत की नियुक्ति को अपने प्रशासन की पहली प्राथमिकता बनाएं.’ ट्रंप को 22 अगस्त को लिखी गयी यह चिट्ठी पालोन ने टि्वटर पर पोस्ट की है.

यह भी पढ़ें : अमेरिका ने कहा- उत्तर कोरिया से डरने वाले नहीं, चीन भी 100 फीसदी प्रतिबंध के पक्ष में

टिप्पणियां

अफगानिस्तान में भारत की भूमिका में विस्तार करने संबंधी ट्रंप के भाषण के एक दिन बाद सांसद ने लिखा है, ‘सात महीने के कार्यकाल के बाद भी महत्वपूर्ण नियुक्ति लंबित है और यह सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए.’ उन्होंने लिखा है कि दक्षिण एशिया में भारत हमारा ‘मजूबत सहयोगी है जैसा कि आपने सोमवार को देश के नाम अपने संबोधन में भी कहा है.’ पालोन ने लिखा है, ‘इन्हीं कारणों से अमेरिका संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थाई सदस्यता का लंबे समय से समर्थन करता आ रहा है. यह देश के हित में है कि हम किसी अनुभवी अमेरिकी को भारत में अपने देश के सर्वोच्च राजनयिक के रूप में भेजें.’ व्हाइट हाउस ने भारत में राजदूत की नियुक्ति पर हो रही देरी के सवालों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

VIDEO : डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी का गर्मजोशी से किया स्वागत​
हालांकि, भारत का नाम लिये बगैर विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने ऐसी खबरों को खारिज किया कि महत्वपूर्ण पद पर रिक्ति के कारण विदेश मंत्रालय के कामकाज पर असर पड़ रहा है.(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement