'हमें कोई रोक नहीं सकता', मौत से पहले महिला ने किया था ट्वीट, ट्रंप की थी कट्टर समर्थक

वाशिंगटन पुलिस ने एक मौत की पुष्टि की है, लेकिन मृतक की पहचान नहीं बताई है और न ही शूटिंग की परिस्थितियों पर कोई विवरण प्रस्तुत किया है, जिसकी अब जांच चल रही है.

'हमें कोई रोक नहीं सकता', मौत से पहले महिला ने किया था ट्वीट, ट्रंप की थी कट्टर समर्थक

कैपिटल बिल्डिंग के बाहर ट्रम्प समर्थकों के हुड़दंग, हंगामे और गोलीबारी में मारी गई महिला की पहचान एशली बेबबिट के रूप में हुई है

खास बातें

  • वाशिंगटन डीसी की घटना में मारी गईं महिला की पहचान हुई
  • एशली बेबबिट के तौर पर पहचान, ट्रंप की कट्टर समर्थक थीं
  • अमेरिकी एयर फोर्स में 14 साल तक दे चुकी हैं सेवा
लॉस एंजिलिस:

वाशिंगटन डीसी (Washington DC) में अमेरिकी संसद (US Parliament) भवन कैपिटल बिल्डिंग के बाहर ट्रम्प समर्थकों के हुड़दंग, हंगामे और गोलीबारी में मारी गई महिला की पहचान एशली बेबबिट के रूप में हुई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वह राष्ट्रपति ट्रंप की कट्टर समर्थक थीं, जिन्होंने अमेरिकी वायु सेना में भी अपनी सेवा दी थी.

राष्ट्रपति ट्रंप के चुनाव में हार के नतीजों को पलटने की मांग कर रहे सैकड़ों प्रदर्शनकारियों द्वारा अमेरिकी संसद भवन कैपिटल बिल्डिंग को घेरने के बाद वहां सुरक्षा बलों से उनकी झड़प हुई, जिसके बाद हिंसा भड़क उठी. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने गोलियां भी चलाईं, जिसमें एशली बेबबिट घायल होकर फर्श पर गिर पड़ीं. बाद में उनकी मौत हो गई.

गोलियां चलाईं, शीशे तोड़े : ट्रम्प समर्थकों ने ऐसे अमेरिकी संसद परिसर को रणक्षेत्र में बदल दिया

बेबबिट के पति के हवाले से सैन डियागो टीवी स्टेशन ने कहा है, "मृतक महिला एशली बेबबिट हैं, जो 14 साल की अनुभवी हैं, जिसने अमेरिकी वायु सेना के साथ चार दौरे किए थे." रिपोर्ट में कहा गया है कि महिला दक्षिणी कैलिफोर्निया के सैन डियागो की रहने वाली थी.

उधर, वाशिंगटन पुलिस ने एक मौत की पुष्टि की है, लेकिन मृतक की पहचान नहीं बताई है और न ही शूटिंग की परिस्थितियों पर कोई विवरण प्रस्तुत किया है, जिसकी अब जांच चल रही है.

US कैपिटॉल बिल्डिंग में घुसी ट्रंप समर्थकों की भीड़, पुलिस के साथ हिंसक झड़प, चार की मौत

कैपिटल बिल्डिंग के अंदर अराजक और हिंसक दृश्यों के बीच महिला को गोली मार दी गई, जहां कुछ सुरक्षाकर्मियों को प्रदर्शनकारियों को पीछे धकेलने के लिए अपनी-अपनी बंदूकें खींचते देखा गया था. वाशिंगटन पुलिस ने घटना का विवरण दिए बिना सिर्फ इतना कहा कि गोली लगने के फौरन बाद महिला की मौत हो गई थी.


टीवी चैनल Fox5 ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि महिला सैन डियागो में अपने पति के साथ बिजनेस चलाती थी, उसके साथ उसके पति वाशिंगटन नहीं गए थे.

वीडियो- अमेरिका में सियासी घमासान, कैपिटल बिल्डिंग में घुसे ट्रंप समर्थक

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com