NDTV Khabar

अटॉर्नी जनरल सेशन्स ने मांगा 46 अमेरिकी अधिवक्ताओं का इस्तीफा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अटॉर्नी जनरल सेशन्स ने मांगा 46 अमेरिकी अधिवक्ताओं का इस्तीफा
नई दिल्‍ली:

अमेरिकी अटॉर्नी जनरल (महाधिवक्ता) जेफ सेशन्स ने उन 46 अधिवक्ताओं (अटॉर्नीज़) के इस्तीफे मांगे हैं, जिनकी नियुक्ति राष्ट्रपति बराक ओबामा प्रशासन के दौरान की गई थी. यह जानकारी न्याय मंत्रालय ने दी है. मंत्रालय ने इस कदम को 'समरूप सत्तांतरण' सुनिश्चित करने का प्रयास बताया है. जिन लोगों से इस्तीफा देने के लिए कहा गया है, उनमें सदर्न डिस्ट्रिक्ट ऑफ न्यूयार्क के अटॉर्नी जनरल और भारतीय मूल के अमेरिकी प्रीत भरारा शामिल हैं. उनकी नियुक्ति पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने वर्ष 2009 में की थी. भरारा ने नवंबर में ट्रंप की चुनावी जीत के बाद उनसे मुलाकात की थी. इस मुलाकात के बाद मीडिया में आई खबरों में कहा गया कि ट्रंप ने भरारा को उनके पद पर बने रहने को कहा है.

भरारा से जुड़े सवालों का जवाब न तो व्हाइट हाउस ने दिया और न ही न्याय मंत्रालय ने. न्याय मंत्रालय की प्रवक्ता सारा इस्गर फ्लोर्स ने कल कहा कि अमेरिका में कुल मिलाकर 93 अधिवक्ता हैं. इनमें से कई तो पहले ही अपने पद छोड़ चुके हैं. लेकिन ट्रंप प्रशासन के शुरूआती हफ्तों में पद पर बने रहे 46 अधिवक्ताओं से 'एक समरूप सत्तांतरण सुनिश्चित करने के क्रम में' इस्तीफा देने को कहा गया है.


टिप्पणियां

फ्लोर्स ने एक बयान में कहा कि जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बिल क्लिंटन प्रशासन ने भी अपने कार्यकाल की शुरूआत में ऐसे ही अनुरोध किए थे. न्यूयार्क के सीनेटर चार्ल्स शूमर ने कहा कि वह अमेरिकी अधिवक्ताओं से, खासतौर पर भरारा से, इस्तीफे के लिए किए गए अनुरोधों की खबरों को सुनकर 'व्‍यथित' हैं. उन्होंने कहा, 'राष्ट्रपति ने मुझे नवंबर में फोन किया था और आश्वासन दिया था कि वह चाहते हैं कि भरारा सदर्न डिस्ट्रिक्ट के लिए अमेरिकी अटॉर्नी पद पर बने रहें.'

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement