NDTV Khabar

बांग्लादेश चुनाव: शेख हसीना को मिली शानदार जीत, विपक्ष के हिस्से में सिर्फ 7 सीटें

प्रधानमंत्री शेख हसीना की पार्टी अवामी लीग ने रविवार को हुए आम चुनाव में लगातार तीसरी बार शानदार जीत दर्ज की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बांग्लादेश चुनाव: शेख हसीना को मिली शानदार जीत, विपक्ष के हिस्से में सिर्फ 7 सीटें

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को आम चुनाव में फिर जीत मिली है.

खास बातें

  1. बांग्लादेश में प्रधानमंत्री शेख हसीना की शानदार जीत
  2. चुनाव के दौरान भड़की हिंसा, 17 लोगों की मौत
  3. विपक्ष ने चुनाव में धांधली का लगाया आरोप
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री शेख हसीना की पार्टी अवामी लीग ने रविवार को हुए आम चुनाव में लगातार तीसरी बार शानदार जीत दर्ज की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हसीना की पार्टी ने 300 में से 260 सीटों पर दर्ज की है. वहीं आवामी लीग की सहयोगी जातिया पार्टी को 21 सीटें मिली हैं. बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाड़ी और वन डे टीम के कप्तान मशरफे मुर्तजा को भी जीत हासिल हुई है. मुर्तजा ने शेख हसीना की पार्टी आवामी लीग के टिकट पर चुनाव लड़ा था. वहीं बांग्लादेश में मुख्य विपक्षी दल नेशनल यूनिटी फ्रंट और इसके सहयोगी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी सिर्फ 7 सीटों पर सिमट कर रह गई. इसके अलावा चुनावी नतीजों को खारिज करते हुए विपक्षी गठबंधन ने नए सिरे से चुनाव कराने की मांग की है. इससे पहले मतदान के दौरान देश के कई हिस्सों में चुनाव से जुड़ी हिंसा में कम से कम 17 लोग मारे गए थे.    

बांग्‍लादेश के क्रिकेटर मशरफे मुर्तजा ने बताया, इसलिए राजनीति में उतरने का लिया निर्णय..


निजी डीबीसी टीवी ने 300 में से 299 सीटों के नतीजे दिखाए. सत्तारूढ़ अवामी लीग के नेतृत्व वाले महागठबंधन ने 266 सीटें जीतीं जबकि उसकी सहयोगी जातीय पार्टी ने 21 सीटें हासिल कीं.  विपक्षी नेशनल यूनिटी फ्रंट (यूएनएफ) को सिर्फ सात सीटों पर जीत मिली. यूएनएफ में बीएनपी मुख्य घटक थी. स्थानीय मीडिया के अनुसार निर्दलीय उम्मीदवारों को दो सीटों पर कामयाबी मिली. एक उम्मीदवार की मौत हो जाने की वजह से एक सीट पर चुनाव स्थगित कर दिया गया था.     चुनाव आयोग ने दक्षिण पश्चिम गोपालगंज सीट के पूरे नतीजे की पुष्टि की. वहां पर प्रधानमंत्री शेख हसीना ने दो लाख 29 हजार 539 वोटों से जीत दर्ज की है, जबकि विपक्षी बीएनपी के उम्मीदवार को मात्र 123 वोट मिले.     

हमारे महान मित्र और बांग्लादेश में काफी सम्मानित नेता थे वाजपेयी : शेख हसीना

बांग्लादेश के विपक्षी एनयूएफ गठबंधन ने आम चुनाव के नतीजों को खारिज कर दिया और एक निष्पक्ष कार्यवाहक सरकार के तहत नए सिरे से चुनाव कराने की मांग की.नेशनल यूनिटी फ्रंट (एनयूएफ) में बीएनपी, गोनो फोरम, जातीय समाज तांत्रिक दल-जेएसडी, नागरिक ओइका और कृषक श्रमिक जनता लीग घटक दल हैं. शुरुआती नतीजों में अवामी लीग की अगुवाई वाले महागठबंधन की जीत के संकेत मिलने के बाद एनयूएफ के संयोजक और वरिष्ठ वकील कमल हुसैन ने संवाददाताओं से कहा, ''हम नतीजों को खारिज करते हैं और निष्पक्ष सरकार के तहत नए सिरे से चुनाव कराने की मांग करते हैं.''

बांग्लादेशी पीएम शेख हसीना बोलीं- रबींद्रनाथ टैगोर पर हमारा अधिकार ज्यादा है, क्योंकि...

हुसैन गोनो फोरम पार्टी के प्रमुख हैं.हुसैन ने चुनाव आयोग से अनुरोध किया, ''हम आपसे इस चुनाव को तुरंत रद्द करने की मांग करते हैं.''उन्होंने दावा किया, ''हमें खबर मिली है कि सभी मतदान केंद्रों पर फर्जीवाड़ा हुआ है.'' बीएनपी महासचिव मिर्जा फखरूल इस्लाम आलमगीर ने चुनाव को 'क्रूर मजाक' बताया. वह अपनी उत्तर पश्चिमी सीट से चुनाव जीतने में कामयाब रहे. पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया की अनुपस्थिति में वही पार्टी की कमान संभाल रहे हैं. इन नतीजों के बाद जहां शेख हसीना चौथी बार देश की प्रधानमंत्री बनेंगी वहीं उनकी मुख्य प्रतिद्वंद्वी खालिदा जिया ढाका जेल में अनिश्चित भविष्य का सामना कर रही हैं. वह कथित तौर पर आंशिक रूप से लकवाग्रस्त भी हैं.

टिप्पणियां

वीडियो- शांति निकेतन में पीएम मोदी और शेख हसीना ने बांग्लादेश भवन का किया उद्घाटन 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement