NDTV Khabar

एकाकी जीवन बिताता था कोलोराडो गोलीबारी का संदिग्ध

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एकाकी जीवन बिताता था कोलोराडो गोलीबारी का संदिग्ध

खास बातें

  1. कोलोराडो के एक सिनेमाघर में 'बैटमैन' शृंखला की नई फिल्म दिखाए जाने के दौरान गोलीबारी करने वाले संदिग्ध को अक्सर अकेले बंदूक लेकर आते-जाते देखा जाता था।
ऑरोरा (अमेरिका):

कोलोराडो के एक सिनेमाघर में 'बैटमैन' शृंखला की नई फिल्म दिखाए जाने के दौरान गोलीबारी करने वाले संदिग्ध को अक्सर अकेले बंदूक लेकर आते-जाते देखा जाता था। इस गोलीबारी में 12 लोगों की मौत हो गई थी।

कोलोराडो विश्वविद्यालय का 24 वर्षीय जेम्स होम्स न्यूरोसाइंस का छात्र है, लेकिन कथित तौर पर वह पीएचडी पाठ्यक्रम से अपना नाम वापस लेना चाहता था। विश्वविद्यालय ने उसकी एक फोटो जारी की है, जिसमें वह गाढ़े रंग की नारंगी टी-शर्ट पहना है और उसके चेहरे पर मुस्कान है।

मांस के कारखाने में काम करने वाला मैक्सिको के निवासी ग्रेबियल मैकेन ने होम्स को देखने की घटना को याद करते हुए बताया कि वह अक्सर अपार्टमेंट से बंदूक लेकर निकलता था। मैकेन ने बताया कि वह किसी से बात नहीं करता था, इसलिए मैं उसे अच्छे तरीके से नहीं जानता था। वह हमेशा अपने घर में बंद रहता था।

टिप्पणियां

होलमेस के सान डियागो उच्च विद्यालय के एक अन्य फोटो में उसे काले रंग का सूट पहने दिखाया गया है। इसमें भी वह मुस्कुरा रहा है। उसने 2006 में सैन डियागो के वेस्टव्यू हाईस्कूल से स्नातक की डिग्री ली।


नजदीक के एक मकान के सुरक्षाकर्मी मेलवीन इवांस ने बताया कि वह यदा-कदा होम्स को स्थानीय बार में देखता था। उसने कहा कि वह अकेला होता था और अच्छा इंसान जान पड़ता था। संघीय जांच ब्यूरो ने होम्स को श्वेत पुरुष बताया है, जिसका जन्म 13 दिसम्बर 1987 को हुआ। उसका कोई गंभीर आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है और आतंकवाद से भी किसी तरह का संबंध नहीं रहा है।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement