...जब मौलवी ने कहा, 40 फीसदी से कम अल्कोहल वाली शराब हलाल है

अक्सर विवादों में रहने वाले पाकिस्तानी मौलवी मुफ्ती अब्दुल कवी की उनके हाल के बयान को लेकर आलोचना हो रही है. दरअसल उन्होंने अपने बयान में कहा कि 40 फीसदी से कम अल्कोहल वाली शराब ‘हलाल’ है.

...जब मौलवी ने कहा, 40 फीसदी से कम अल्कोहल वाली शराब हलाल है

पाकिस्तानी मौलवी मुफ्ती अब्दुल कवी ने कहा कि 40 फीसदी से कम अल्कोहल वाली शराब ‘हलाल’ है.

इस्लामाबाद :

अक्सर विवादों में रहने वाले पाकिस्तानी मौलवी मुफ्ती अब्दुल कवी की उनके हाल के बयान को लेकर आलोचना हो रही है. दरअसल उन्होंने अपने बयान में कहा कि 40 फीसदी से कम अल्कोहल वाली शराब ‘हलाल' है. कवी ने हाल ही एक साक्षात्कार में कहा था, ‘‘मैं समझता हूं कि 40 फीसदी से कम अल्कोहल वाली शराब हलाल है.... यानी कि आप उसे पी सकते हैं.'' उनसे सऊदी अरब में मौलवियों द्वारा कथित रूप से जारी इस फतवे के बारे में उनकी राय पूछी गयी थी कि 40 फीसदी या उससे कम कम अल्कोहल वाली शराब हलाल (मान्य) है. 

Newsbeep

कवी ने यह भी कहा, ‘‘मैं तो यह भी कहूंगा कि खनिजों जैसे स्पीरिट, पेट्रोल और अन्य चीजों से बनी शराब शत प्रतिशत हलाल है.'' उन्होंने कहा, ‘‘यदि तंबाकू वाले पान को हमारे मौलवियों द्वारा चबाया जाना हलाल है तो मैं कहना चाहूंगा कि आधुनिक शराब भी हलाल है.'' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पाकिस्तान टुडे की एक खबर के अनुसार कराची बिनोरिया मदरसे के प्रमुख मुफ्ती नईम ने क्यावी की राय से असहमति प्रकट की और कहा कि शराब के बारे में उनकी टिप्पणी गलत है और प्रत्येक दूसरे संप्रदाय की मान्यता के विरुद्ध है. उन्होंने कहा, ‘‘शराब की एक बूंद भी साफ पानी से भरे घड़े को अशुद्ध बना देती है और सभी उलेमाओं की इस पर यही राय है.''



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)