यह ख़बर 04 जनवरी, 2012 को प्रकाशित हुई थी

बिदवे हत्याकांड : टूटी कड़ियों को ढूंढने में हुई कामयाब पुलिस

बिदवे हत्याकांड : टूटी कड़ियों को ढूंढने में हुई कामयाब पुलिस

खास बातें

  • पुलिस ने कहा कि 23 दिसंबर को लैंकास्टर विश्वविद्यालय में हुई 23 वर्षीय छात्र की दुखद मौत से जुड़े घटनाक्रम को समझने में कुछ टूटी कड़ियों को जोड़ने में वह कामयाब हुई है।
पुणे:

पुणे के छात्र अनुज बिदवे की हत्या की जांच कर रही मैनचेस्टर पुलिस ने मंगलवार को कहा कि 23 दिसंबर को लैंकास्टर विश्वविद्यालय में हुई 23 वर्षीय छात्र की दुखद मौत से जुड़े घटनाक्रम को समझने में कुछ टूटी कड़ियों को जोड़ने में वह कामयाब हुई है।
ग्रेटर मैनचेस्टर के प्रमुख पुलिस अधीक्षक रूस जैकसन ने कहा, ‘हम कल रात कुछ घंटे अनुज के परिवार के साथ रहे। हम अनुज की दुखद मौत से जुड़े घटनाक्रम में कुछ टूटी कड़ियों को जोड़ने में कामयाब रहे हैं।’ अपने सहयोगी पीटर रिचर्ड्स के साथ कल रात यहां पहुंचे जैक्सन ने कहा कि अनुज की हत्या के आरोप में किर्यान मार्क स्टेप्लटन को कल मैनचेस्टर की अदालत में पेश किया गया और अदालत ने उसे दो दिन की हिरासत में भेज दिया।
जैक्सन बिदवे के परिवार को दुख की इस घड़ी में सात्वंना देने यहां आए हैं। सालफोर्ड में बिदवे की बिना किसी भड़कावे के हत्या कर दी गई।
बिदवे की करीबी रिश्तेदार सुरूचि वाघ ने कहा कि शव का दूसरा पोस्टमार्टम चल रहा है और शव लेने के लिए शीघ्र ही परिवार के सदस्य ब्रिटेन जाएंगे।
मैनचेस्टर के पुलिस दल से कल की भेंट के बाद सुरूचि ने संवाददाताओं से कहा कि जांचकर्ताओं ने कहा कि इसमें नस्ली कोण से इंकार नहीं किया जा सकता। भारतीय छात्र अनुज बिदवे की हत्या के आरोपी 20 वर्षीय मनोरोगी ब्रिटिश युवक को 20 मार्च तक के लिए हिरासत में आज भेज दिया। उसी दिन इस मामले की सुनवाई की अगली तारीख है।
मैनचेस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में कल खुद को मनोरोगी बताने वाला कियरन आज मैनचेस्टर क्राउन अदालत के समक्ष जेल से वीडियो लिंक के जरिए पेश हुआ। उसे 20 मार्च तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com