NDTV Khabar

भारत से गर्भनिरोधक गोलियां अमेरिका लाने वाली कंपनियों के खिलाफ हो सकती है कार्रवाई

पत्र में शार्पलेस से अपील की गई है कि वह ‘एड एक्सेस’ और मेल ऑर्डर के जरिए गर्भनिरोधक दवाएं (Birth Control Pills) मुहैया कराने वाली अन्य कंपनियों की अवैध गतिविधियां रोकने के लिए कदम उठाएं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत से गर्भनिरोधक गोलियां अमेरिका लाने वाली कंपनियों के खिलाफ हो सकती है कार्रवाई

भारत से गर्भनिरोधक गोलियां अमेरिका लाने वाली यूरोपीय कंपनियों पर की जाए कार्रवाई: एफडीए 

वॉशिंगटन:

अमेरिका में 117 सांसदों ने अमेरिका फूड एंड ड्रग एडमिनिट्रेशन (एफडीए) से अपील की है कि वह रसायनिक गर्भनिरोधक दवाइयां (Chemical Contraceptive Medicines) भारत से अमेरिका भेजने वाली यूरोप की कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई करे.

सांसदों ने कार्यवाहक एफडीए आयुक्त नोरमन शार्पलेस को लिखे पत्र में कहा कि ‘एड एक्सेस' जैसी यूरोपीय कंपनियां एफडीए की सुरक्षा अनिवार्यताओं की अवहेलना कर रही हैं और महिलाओं एवं उनके बच्चों के जीवन को जोखिम में डाल रही हैं.

बच्ची को पढ़ाई कराता है ये कुत्ता, इधर-उधर भटका ध्यान तो देता है ऐसी सजा...देखें VIDEO

कांग्रेस के दोनों दलों के सांसदों द्वारा 10 मई को लिखे गए पत्र में शार्पलेस से अपील की गई है कि वह अमेरिकी उपभोक्ताओं को रासायनिक गर्भनिरोधक दवा ‘माइफप्रेक्स' का ‘मेल ऑर्डर' के जरिए मुहैया करने वाली दो विदेशी कंपनियों ‘एड एक्सेस' और ‘राब्लन' के खिलाफ कार्रवाई करें.

पत्र में शार्पलेस से अपील की गई है कि वह ‘एड एक्सेस' और मेल ऑर्डर के जरिए गर्भनिरोधक दवाएं (Birth Control Pills) मुहैया कराने वाली अन्य कंपनियों की अवैध गतिविधियां रोकने के लिए कदम उठाएं.


दुनिया की सबसे गहरी समुद्री सतह का Video, दिखाया प्रशांत महासागर के 11Km नीचे का हाल

माइफप्रेक्स के पास एफडीए की मंजूरी है, लेकिन स्वास्थ्य सेवा प्रदाता ही मरीजों को यह दवा दे सकते हैं. यह खुदरा मेडिकल स्टोरों और कानूनी रूप से इंटरनेट पर उपलब्ध नहीं हैं.

इनपुट - भाषा

टिप्पणियां

VIDEO: सही गर्भनिरोधक दवा चुनना है जरूरी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement