NDTV Khabar

अमेरिका की मदद के लिए हमने ही प्रशिक्षित किया था मुजाहिदीन को : पाक PM इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा, "80 के दशक में हम इन मुजाहिदीन को सोवियत यूनियन के खिलाफ जेहाद के लिए प्रशिक्षित कर रहे थे, जब उन्होंने अफगानिस्तान पर कब्ज़ा कर लिया था... सो, इन लोगों को पाकिस्तान ने प्रशिक्षण दिया है, और इन्हें अमेरिका की जासूसी एजेंसी CIA ने माली मदद मुहैया करवाई..."

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमेरिका की मदद के लिए हमने ही प्रशिक्षित किया था मुजाहिदीन को : पाक PM इमरान खान

Imran khan: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने अमेरिका पर उठाया सवाल
  2. अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना की मौजूदगी पर बोले इमरान
  3. हमें दोषी ठहराना नाइंसाफी: पाक PM
पाकिस्तान:

क्रिकेटर से राजनेता और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने इमरान खान (PM Imran khan) ने कबूल किया है कि उनके मुल्क ने ही आतंकवादियों को प्रशिक्षित किया था, लेकिन वे आतंकवादी नहीं जेहादी थे. उन्होंने अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना की मौजूदगी पर सवाल उठाते हुए शुक्रवार को कहा कि सोवियत संघ द्वारा अफगानिस्तान पर कब्ज़ा कर लिए जाने के बाद उनके मुल्क ने अमेरिकी जासूसी एजेंसी CIA की मदद से जेहादियों को प्रशिक्षण दिया था. इसके 10 साल बाद अमेरिका वहां पहुंचा, और जब उन्हें लम्बे संघर्ष के बाद भी कामयाबी हासिल नहीं हो पाई, तो मुजाहिदीन को आतंकवादी करार दिया गया, और हमें दोषी ठहराया जा रहा है.

पाकिस्तान में पेट्रोल की कीमत 117 रुपये के पार, टूटा 13 साल का रिकॉर्ड


पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने कहा, "80 के दशक में हम इन मुजाहिदीन को सोवियत यूनियन के खिलाफ जेहाद के लिए प्रशिक्षित कर रहे थे, जब उन्होंने अफगानिस्तान पर कब्ज़ा कर लिया था... सो, इन लोगों को पाकिस्तान ने प्रशिक्षण दिया है, और इन्हें अमेरिका की जासूसी एजेंसी CIA ने माली मदद मुहैया करवाई..."

उन्होंने कहा, "इसके एक दशक के बाद जब अमेरिकन अफगानिस्तान में आए, तो वे सभी गुट, जो पाकिस्तान में हैं, वे कह रहे हैं कि चूंकि अमेरिकन वहां (अफगानिस्तान में) आ गए हैं, तो अब यह जेहाद नहीं, आतंकवाद बताया जा रहा है... यह बड़ा विरोधाभासी है, और मुझे लगता है कि पाकिस्तान को तटस्थ रहना चाहिए था, क्योंकि इनमें शामिल होने की वजह से यही मुजाहिदीन गुट हमारे खिलाफ हो गए हैं..."

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा, "हमने भी अपने 70,000 लोग खोए हैं, हमने अपनी अर्थव्यवस्था से 100 अरब डॉलर से ज़्यादा गंवा दिए... अंत में, हमें ही अफगानिस्तान में अमेरिका के कामयाब नहीं होने के लिए दोषी करार दिया गया... मुझे लगता है कि यह पाकिस्तान के साथ बहुत नाइंसाफी है..."

'कश्मीर हमारा था, हमारा है और हमारा रहेगा'- जमीयत उलेमा-ए-हिंद

टिप्पणियां

Video: जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में हथियारों से भरा ट्रक पकड़ा गया



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement