NDTV Khabar

बोरिस जॉनसन बने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री, बकिंघम पैलेस में क्वीन एलिजाबेथ से की मुलाकात

लंदन के पूर्व मेयर बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बन गए हैं. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री का पदभार संभालने के बाद बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने बकिंघम पैलेस जाकर क्वीन एलिजाबेथ से भी मुलाकात की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बोरिस जॉनसन बने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री, बकिंघम पैलेस में क्वीन एलिजाबेथ से की मुलाकात

बोरिस जॉनसन बने ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री.

खास बातें

  1. ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बने बोरिस जॉनसन
  2. बकिंघम पैलेस जाकर क्वीन एलिजाबेथ से की मुलाकात
  3. पीएम पद की रेस में जॉनसन ने जेरमी हंट को हराया
लंदन:

लंदन के पूर्व मेयर बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बन गए हैं. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री का पदभार संभालने के बाद बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने बकिंघम पैलेस जाकर क्वीन एलिजाबेथ से मुलाकात की, जिन्होंने उनको नए प्रशासन का गठन करने को कहा. बकिंघम पैलेस ने एक बयान में यह जानकारी दी है. पैलेस द्वारा जारी किए गए एक फोटो में जॉनसन 93 वर्षीय महारानी से हाथ मिलाते नजर आ रहे हैं. कंजरवेटिव पार्टी के नेता बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने पीएम पद की रेस में जेरमी हंट को हराया था. शपथ लेने के तुरंत बाद ही बोरिस जॉनसन ने बोरिस 31 अक्टूबर तक अपने देश को यूरोपीय संघ से बाहर निकालने का वादा किया.

9s10kjs8

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने बकिंघम पैलेस में क्वीन एलिजाबेथ से मुलाकात की.


पीएम मोदी ने भी बोरिस जॉनसन को ट्वीट कर बधाई दी. पीएम मोदी ने ट्वीट किया, 'मैं आपकी सफलता की कामना करता हूं और सभी क्षेत्रों में भारत और ब्रिटेन की साझेदारी को मजबूत करने के लिए मुझे आपके साथ काम करने का इंतजार है. 

बता दें कि इससे पहले यूरोपीय संघ से अलग होने के मुद्दे पर जारी राजनीतिक अनिश्चितता के बीच बोरिस जॉनसन ने  मंगलवार को कंजर्वेटिव पार्टी की नेतृत्व दौड़ में बाजी मारी थी और देश के नए प्रधानमंत्री चुने गए थे. यह पहले से ही उम्मीद जताई जा रही थी कि पूर्व विदेश मंत्री एवं लंदन के पूर्व मेयर जॉनसन 10 डाउनिंग स्ट्रीट की लड़ाई में विदेश मंत्री जेरेमी हंट को हरा देंगे. पार्टी के नेतृत्व और प्रधानमंत्री पद की दौड़ पिछले महीने तब शुरू हुई थी जब ब्रेग्जिट मुद्दे पर कंजर्वेटिव पार्टी में बढ़ती बगावत के चलते टेरेसा मे ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. परिणाम की घोषणा के तुरंत बाद संसद भवन के पास क्वीन एलिजाबेथ ।। सेंटर में टोरी पार्टी के सदस्यों को संबोधित करते हुए 55 वर्षीय जॉनसन ने कहा, 'मंत्र ब्रेग्जिट को संभव कर दिखाने, देश को एकजुट करने और जेरेमी कोरबिन (लेबर नेता) को हराने का है.'

उन्होंने कहा, 'मैं आपकी विश्वास बहाली के लिए काम करूंगा. काम अब शुरू होता है.' सांसद एवं टोरी पार्टी की '1922 समिति' की सह-अध्यक्ष चेरिल गिलान ने लिफाफा खोला और घोषणा की कि जॉनसन को 92,153 वोट मिले हैं, जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी हंट को 46,656 वोट मिले हैं. नया नेता चुनने के लिए टोरी पार्टी के 87.4 सदस्यों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था. 509 वोट खारिज कर दिए गए.

ब्रेक्जिट पर टेरेसा के प्रस्ताव की रूपरेखा को झटका, मंत्री ने दिया इस्तीफा

टिप्पणियां

नए प्रधानमंत्री अपना मंत्रिमंडल चुनने के वास्ते कुछ समय ले सकते हैं. भारतीय मूल के सांसदों-प्रीति पटेल और ऋषि सुनाक सहित जॉनसन के कई समर्थकों और ब्रेग्जिटियर्स को मंत्री पद मिलने की उम्मीद है. टेरेसा मे ने मंगलवार को डाउनिंग स्ट्रीट में अपनी अंतिम कैबिनेट बैठक की अध्यक्षता की. 

(इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement