Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

पाक उपचुनाव : सत्तारूढ़ पीटीआई और विपक्षी पीएमएल-एन के बीच कांटेदार मुकाबला 

डॉन अखबार की खबर के अनुसार, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज पीएमएल-एन नेशनल असेंबली में चार-चार सीटों पर आगे चल रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाक उपचुनाव : सत्तारूढ़ पीटीआई और विपक्षी पीएमएल-एन के बीच कांटेदार मुकाबला 

प्रतीकात्मक चित्र

इस्लामाबाद:

पाकिस्तान में नेशनल और प्रांतीय असेंबली की 35 सीटों पर रविवार को उपचुनाव के बाद देशभर से आ रहे प्रारंभिक नतीजों में सत्तारूढ़ पीटीआई और मुख्य विपक्षी दल पीएमएल-एन के बीच कांटेदार मुकाबला देखने को मिल रहा है. पाकिस्तान निर्वाचन आयोग (ईसीपी) के अनुसार, 11 नेशनल और 24 प्रांतीय असेंबली सीटों के लिए मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ और यह शाम पांच बजे समाप्त हुआ. मतदान समाप्त होने के तुरंत बाद मतगणना शुरू हो गई. डॉन अखबार की खबर के अनुसार, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज पीएमएल-एन नेशनल असेंबली में चार-चार सीटों पर आगे चल रही है.

यह भी पढ़ें: भारत का विदेश मंत्री स्तरीय बैठक रद्द करने का कदम दुर्भाग्यपूर्ण : कुरैशी 


पाकिस्तान मुस्लिम लीग-क्यू दो सीटों पर और मुत्ताहिद मजलिस अमल एक सीट पर आगे चल रही हैं. जियो टीवी की खबर के अनुसार, पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी एन-124 लाहौर सीट पर जीत गए. पंजाब में नेशनल असेंबली की नौ सीटों जबकि सिंध और खैबर पख्तूनख्वा में एक-एक सीट के लिये उप चुनाव हुए. वहीं, प्रांतीय असेंबली की 24 सीटों के लिये उपचुनाव हो रहे हैं जिसमें से पंजाब में 11, खैबर पख्तूनख्वा में नौ, सिंध एवं बलूचिस्तान में दो-दो सीटों पर उपचुनाव के लिये मतदान हो रहे हैं.

यह भी पढ़ें: ...जब नवाज शरीफ ने कहा- वाजपेयी जी, आप तो पाकिस्तान में भी चुनाव जीत सकते हैं

टिप्पणियां

उपचुनाव वाले इन सीटों में से ज्यादातर वो सीटें हैं जो 25 जुलाई को हुए आम चुनावों में एक से अधिक सीट से जीतने वाले प्रत्याशियों ने खाली कर दी थी. प्रधानमंत्री इमरान खान ने पांच सीटों पर जीत हासिल की थी और बाद में उनमें से चार सीटें खाली कर दी थीं. 7,489 मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा मुहैया कराने के लिए हजारों जवानों को तैनात किया गया. शुक्रवार को जवानों की तैनाती शुरू हुई थी और वे 15 अक्टूबर तक चुनाव ड्यूटी पर तैनात रहेंगे. चुनाव आयोग ने 1,727 मतदान केन्द्रों को ‘अति संवेदनशील’ बताया है जहां अतिरिक्त जवानों और सुरक्षा कैमरों को लगाया गया.

VIDEO: क्या पाकिस्तान से रिश्ते और बिगड़ेंगे? 

इसमें पंजाब के 848 मतदान केन्द्र, खैबर पख्तूनख्वा (केपी) के 544, सिंध के 201 और बलूचिस्तान के 134 मतदान केन्द्र शामिल हैं. किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए मतदान केन्द्रों के भीतर और बाहर जवानों को तैनात किया गया. (इनपुट भाषा से) 



दिल्ली चुनाव (Elections 2020) के LIVE चुनाव परिणाम, यानी Delhi Election Results 2020 (दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट 2020) तथा Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... बिग बॉस से बाहर आते ही पास्ता पर टूट पड़ीं रश्मि देसाई, बोलीं- चोरी किया हुआ नहीं है...देखें Video

Advertisement