NDTV Khabar

कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय ने यौन संबंध रजिस्टर की योजना बनायी

वैसे तो ऐसा कोई कानून नहीं है जो शिक्षकों को 18 साल से अधिक उम्र के विद्यार्थियों के साथ संबंध बनाने से रोकता हो लेकिन ज्यादातर ब्रिटिश विश्वविद्यालयों में इसे आचार संहिता के विरुद्ध माना जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय ने यौन संबंध रजिस्टर की योजना बनायी

(फाइल फोटो)

लंदन: कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय उत्पीड़न और दुराचार के मामलों पर अंकुश के तहत शिक्षकों एवं विद्यार्थियों के बीच संबंधों का रिकार्ड रखने के लिए एक आधिकारिक रजिस्टर शुरु करने की योजना बना रहा है. वैसे तो ऐसा कोई कानून नहीं है जो शिक्षकों को 18 साल से अधिक उम्र के विद्यार्थियों के साथ संबंध बनाने से रोकता हो लेकिन ज्यादातर ब्रिटिश विश्वविद्यालयों में इसे आचार संहिता के विरुद्ध माना जाता है. अब, दुनिया के श्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में एक कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय एक कदम आगे बढ़ने की योजना बना रहा है.

इंग्लैंड का यह प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय अब एक नयी नीति जारी करेगा जो प्रोफेसरों के लिए किसी भी विद्यार्थी के साथ यौन संसर्ग का उल्लेख करना अनिवार्य बनाएगा.

यह भी पढ़ें : वर्ल्ड रैंकिंग 2018 में भारतीय यूनिवर्सिटीज का प्रदर्शन हुआ कमजोर

इस तरह के संबंधों को हितों का टकराव समझा जा सकता है. उसके बाद उन्हें उन विद्यार्थियों को पढ़ाने या उनके काम का मूल्यांकन करने से रोका जाएगा. ‘डेली टेलीग्राफ’ की एक खबर के अनुसार एक बयान में विश्वविद्यालय ने कहा कि यौन कदाचार के इर्द-गिर्द आचरण में बदलाव को प्रोत्साहित करने के लिए नयी पहल के तहत वह परस्पर सहमति के कर्मचारी-विद्यार्थी यौन संबंध पर नया दिशा-निर्देश प्रकाशित करेगा.

VIDEO : बच्ची के बनाए स्केच ने गुनाहगार को दिलाई सज़ा​


विश्वविद्यालय को उम्मीद है कि शिक्षक और विद्यार्थी के बीच परस्पर सहमति से बने संबंधों को आधिकारिक रुप से घोषित करने से इन चिंताओं से निबटने में मदद मिलेगी कि शिक्षक विद्यार्थियों को ऐसे संबंधों के लिए आकर्षित करने के लिए अपने पद का इस्तेमाल कर सकते हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement