'जेल में मेरी सेल और बाथरूम में लगे थे कैमरे', पूर्व पाक प्रधानमंत्री की बेटी मरियम के संगीन आरोप

पाकिस्तान की तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार की आलोचना करते हुए पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष ने कहा कि अगर अधिकारी कमरे तोड़कर उनके पिता नवाज शरीफ के सामने उन्हें गिरफ्तार कर सकते हैं और उन पर निजी हमले कर सकते हैं, तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि पाकिस्तान में महिलाएं कितनी सुरक्षित हैं?

'जेल में मेरी सेल और बाथरूम में लगे थे कैमरे', पूर्व पाक प्रधानमंत्री की बेटी मरियम के संगीन आरोप

मरियम पिछले साल चौधरी शुगर मिल्स मामले में गिरफ्तार किए जाने के बाद जेल भेजी गई थीं.

इस्लामाबाद:

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ के बेटी और उनकी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज़ (PML-N) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज़ शरीफ ने एक संगीन आरोप लगाया है. मरियम ने कहा है कि जब वो जेल में बंद थीं, तब अधिकारियों ने उनकी सेल और बाथरूम में भी कैमरे लगवा दिए गए थे. मरियम एक सांसद भी हैं.

जियो न्यूज के मुताबिक, हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में मरियम नवाज शरीफ ने जेल में कथित असुविधाओं के बारे में बात की, जिसका सामना उन्होंने जेल में किया था. मरियम पिछले साल चौधरी शुगर मिल्स मामले में गिरफ्तार किए जाने के बाद जेल भेजी गई थीं. पाकिस्तान की इमरान सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, "मैं दो बार जेल जा चुकी हूं और अगर मैं इस बारे में बोलूं कि कैसे मेरे, एक महिला, के साथ जेल में व्यवहार किया गया था, तो उन्हें अपना चेहरा दिखाने का दुस्साहस नहीं होगा."

पाक ने जारी की खूंखार आतंकियों की लिस्ट, गुस्साया भारत - 'मुंबई हमले के मास्टरमाइंड का नाम नहीं'

पाकिस्तान की तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार की आलोचना करते हुए पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष ने कहा कि अगर अधिकारी कमरे तोड़कर उनके पिता नवाज शरीफ के सामने उन्हें गिरफ्तार कर सकते हैं और उन पर निजी हमले कर सकते हैं, तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि पाकिस्तान में महिलाएं कितनी सुरक्षित हैं? उन्होंने कहा, "महिला चाहे पाकिस्तान की हो या कहीं और की हो, वो कमजोर नहीं हो सकती है."

Newsbeep

पाकिस्तान में शुरू हुई पहली मेट्रो, तो लोगों ने अंदर ऐसे काटा बवाल, लोग बोले- 'यह क्या मजाक है...' - देखें Video

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जियो न्यूज के मुताबिक, मरियम नवाज शरीफ ने कहा है कि उनकी पार्टी संविधान के दायरे में रहकर सैन्य प्रतिष्ठानों के साथ बातचीत करने को तैयार है, बशर्ते कि सत्ता में मौजूद पीटीआई सरकार को तुरंत हटाया जाय. उन्होंने आगे कहा कि वह संस्थानों के खिलाफ नहीं हैं लेकिन इस बात पर जोर दिया कि कोई भी गुप्त बातचीत नहीं होगी.