अमेरिका ने TikTok और WeChat पर लगाया बैन, चीन का आरोप- परेशान कर रहा US

अमेरिका ने शुक्रवार को आदेश जारी किए कि राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए वह लोकप्रिय चीनी सोशल मीडिया ऐप टिकटॉक (TikTok) और वीचैट (WeChat) पर रविवार से प्रतिबंध लगा रहा है.

अमेरिका ने TikTok और WeChat पर लगाया बैन, चीन का आरोप- परेशान कर रहा US

अमेरिका ने TikTok और WeChat पर प्रतिबंध की घोषणा की. (फाइल फोटो)

शंघाई:

चीन (China) ने शनिवार को आरोप लगाया है कि अमेरिका (America) उसे परेशान कर रहा है. दरअसल भारत द्वारा कई चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाए जाने के कुछ हफ्तों बाद अमेरिका ने शुक्रवार को आदेश जारी किए कि राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए वह लोकप्रिय चीनी सोशल मीडिया ऐप टिकटॉक (TikTok) और वीचैट (WeChat) पर रविवार से प्रतिबंध लगा रहा है. चीन ने कहा कि वह इसके बदले में अप्रत्याशित फैसले ले सकता है. चीनी वाणिज्य मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि चीन ने अमेरिका से डराना-धमकाना छोड़ने, गलत कार्यों को रोकने और ईमानदारी से निष्पक्ष और पारदर्शी अंतरराष्ट्रीय नियमों और व्यवस्था को बनाए रखने का अनुरोध किया है.

शुक्रवार को अमेरिका ने कहा कि वे देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिये पूर्वाग्रही थे. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने एक दिन पहले ही कहा कि वह चीनी स्वामित्व वाले वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटॉक के लिए अमेरिकी कंपनी ओरेकल की कथित बोली पर गौर कर रहे हैं, लेकिन वह सौदे को मंजूरी देने से पहले यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि राष्ट्रीय सुरक्षा से कोई समझौता न हो.

ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन करेगी अमेरिका और कनाडा में एक लाख लोगों की नियुक्ति

पिछले महीने ट्रंप ने टिकटॉक और वीचैट पर प्रतिबंध लगाने के लिए एक कार्यकारी आदेश पर दस्तखत किए थे. जिसके तहत दोनों चीनी कंपनियां अपना स्वामित्व किसी अमेरिकी कंपनी को दे कर ही प्रतिबंध से बच सकती हैं. वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति के निर्देश पर हमनें अमेरिकी नागरिकों के व्यक्तिगत आंकड़े एकत्र करने के चीन के दुर्भावनापूर्ण कृत्य से लड़ने के लिये महत्वपूर्ण कार्रवाई की है, जिससे हम हमारे राष्ट्रीय मूल्यों, लोकतांत्रिक नियमों पर आधारित मान्यताओं और अधिक आक्रामक तरीके से अमेरिकी कानूनों और नियमों को लागू कर पाएंगे.''

चीनी नागरिकों पर साइबर हमले का आरोप, भारत सरकार के कंप्यूटर नेटवर्क को भी बनाया निशाना

वाणिज्य विभाग ने अन्य सोशल मीडिया ऐप को भी वीचैट या टिकटॉक के अवैध व्यवहार की नकल करने को लेकर चेतावनी दी है. राष्ट्रपति के पास अधिकार है कि क्या क्या ऐसी गतिविधियों पर लगाम लगाने के लिये अतिरिक्त आदेश की जरूरत है. विभाग ने एक बयान में कहा कि अमेरिका ने 20 सितंबर से ऑनलाइन मोबाइल एप्लिकेशन स्टोर के जरिए अमेरिका में वीचैट या टिकटॉक मोबाइल ऐप, उनके घटक कोड या अप्लीकेशन अद्यतन की सेवा या वितरण को प्रतिबंधित कर दिया है. इसके तहत अमेरिका में किसी भी तरह के वित्तीय लेनदेन पर भी रोक रहेगी.

पूर्व मॉडल ने डोनाल्‍ड ट्रंप पर लगाया वर्ष 1997 में यौन शोषण करने का आरोप

इसमें कहा गया कि 20 सितंबर से वीचैट के लिए और 12 नवबंर से टिकटॉक के लिए अमेरिका में ऐसी किसी भी इंटरनेट होस्टिंग सेवा पर प्रतिबंध रहेगा, जो इन मोबाइल एप्लिकेशन के संचालन का प्रावधान करती हों. इनमें कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क सेवा पर प्रतिबंध भी शामिल होगा, जो उसे संचालन या उसके अनुकूलन के सक्षम बनाए. भारत ने 29 जुलाई को टिकटॉक, वी चैट और यूसी ब्राउजर समेत 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था. बाद में 244 और चीनी ऐप पर भी प्रतिबंध लगाया गया था. (इनपुट भाषा से भी)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: रेस्टोरेंट में संक्रमण को लेकर अमेरिका में CDS की रिपोर्ट



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)