NDTV Khabar

चीन, नेपाल ने रेल नेटवर्क सहित 14 समझौतों पर हस्ताक्षर किया 

प्रधानमंत्री ली क्विंग के साथ उनकी प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के बाद दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच एक लंबी बैठक भी हुई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चीन, नेपाल ने रेल नेटवर्क सहित 14 समझौतों पर हस्ताक्षर किया 

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  1. रेल संपर्क तिब्बत और नेपाल को जोड़ेगा
  2. दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच लंबी बैठक हुई
  3. ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग को बढ़ावा भी दिया जाएगा
नई दिल्ली: चीन और नेपाल ने एक रेल नेटवर्क के निर्माण सहित 14 समझौतों पर आज हस्ताक्षर किए. नेपाल के प्रधानमंत्री के . पी शर्मा ओली की चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग सहित अन्य शीर्ष नेताओं के साथ यहां हुई बैठक के बाद यह समझौते हुए हैं. यह कथित रेल संपर्क तिब्बत और नेपाल को जोड़ेगा , जो नेपाल के लिए कहीं अधिक व्यापार और परिवहन वस्तुओं के पहुंचने का मार्ग प्रशस्त करेगा. ओली 19 जून से पांच दिनों की यहां की यात्रा पर हैं.

यह भी पढ़ें: चीन ने दिया भारत-नेपाल-चीन आर्थिक गलियारा बनाने का प्रस्ताव

उन्होंने शी के साथ कल गहन वार्ता की. प्रधानमंत्री ली क्विंग के साथ उनकी प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के बाद दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच एक लंबी बैठक भी हुई. चीनी आधिकारिक मीडिया ने समझौतों के बारे में ब्योरा नहीं दिया है. हालांकि , नेपाली अखबार काठमांडो पोस्ट की खबर के मुताबिक दोनों देशों ने एक रेलवे लाइन के निर्माण सहित 10 विषयों पर समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं.

यह भी पढ़ें: चीन ने नेपाल में इस मामले में भारत का एकाधिकार समाप्त किया

इन समझौतों में ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग को बढ़ावा देना भी शामिल है. तिब्बत में राजमार्ग के इस्तेमाल के बारे में उनके बीच सहमति बनी. हांगकांग आधारित साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट की खबर के मुताबिक दोनों देशों ने कल 2. 4 अरब डॉलर के आठ समझौतों पर हस्ताक्षर किए.इसमें जलविद्युत परियोजनाएं , सीमेंट फैक्टरी और फल उत्पादन शामिल हैं.

टिप्पणियां
VIDEO: भारत-नेपाल में क्यों बिगड़े रिश्ते.


ओली के साथ वार्ता के दौरान शी ने उन्हें भरोसा दिलाया कि वह नेपाल - चीन सीमा सड़क संपर्क को साकार होते देखने को इच्छुक है. पोस्ट ने शी के हवाले से कहा है कि शिगास्ते (तिब्बत) से ट्रेन काठमांडो पहुंचेगी. (इनपुट भाषा से) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement