कोरोना के बीच ब्यूबोनिक प्लेग का मामला आने से बढ़ी चीन की चिंता, सतर्कता बढ़ाई गई

चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन के मुताबिक, तेजी से फैलने वाली प्लेग बीमारी के चीन में बहुत ही कम मामले हैं और इसका इलाज किया जा सकता है.

कोरोना के बीच ब्यूबोनिक प्लेग का मामला आने से बढ़ी चीन की चिंता, सतर्कता बढ़ाई गई

येर्सिनिया पेस्टिस बैक्टीरिया संक्रमित चूहे से इंसान में आसानी से फैल सकता है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • चीन में ब्यूबोनिक प्लेग का मामला सामने आया
  • चीन ने सतर्कता बढ़ाई
  • संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों को किया गया क्वारंटीन
बीजिंग :

कोरोनावायरस (Coronavirus) के खतरे के बीच चीन में एक और मुसीबत ने दस्तक दी है. इस बीमारी का नाम ब्यूबोनिक प्लेग (Bubonic Plague). चीन के उत्तरी इनर मंगोलिया क्षेत्र में एक चरवाहे को ब्यूबोनिक प्लेग होने की पुष्टि हुई है. मामले के सामने आने के बाद अधिकारियों ने सतर्कता बढ़ा दी है अर्थात् एहतियाती कदम उठाने में तेजी लाए हैं. सिटी हेल्थ कमीशन ने एक बयान में कहा कि पीड़ित व्यक्ति बायानूर में एक अस्पताल में भर्ती है और फिलहाल उसकी हालत स्थिर है.  

कमीशन ने खतरे को देखते हुए लोगों से इस साल के अंत तक ऐसे जानवरों खासकर मारमॉट (Marmots) का शिकार करने से मना किया है, जिनसे प्लेग होने का खतरा है. साथ ही मरे या बीमार चूहों के बारे में सूचना देने के लिए भी कहा गया है. मारमॉट गिलहरी की जाति का एक जन्तु है. बताया गया है कि येर्सिनिया पेस्टिस बैक्टीरिया संक्रमित चूहे से इंसान में आसानी से फैल सकता है. 

चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन के मुताबिक, तेजी से फैलने वाली प्लेग बीमारी के चीन में बहुत ही कम मामले हैं और इसका इलाज किया जा सकता है. 2014 में से अब तक इस बीमारी से अब तक 5 लोगों की मौत हुई है. 

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने कहा कि मंगोलिया के नजदीक सोमवार को एक 15 साल के लड़के में प्लेग के लक्षण देखे गए हैं. एजेंसी ने कहा कि चूहा खाने के बाद लड़के को बुखार आ गया था. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

शिन्हुआ ने कहा कि मंगोलिया के खोवद प्रांत में पिछले हफ्ते ब्यूबोनिक प्लेग के दो मामलों की पुष्टि हुई थी. मर्मोट का मांस खाने के बाद दो भाई ब्यूबोनिक प्लेग से संक्रमित पाए गए थे. इन दोनों के संपर्क में आए करीब 146 लोगों को क्वारंटीन में रखा गया है.  

वीडियो: गलवान घाटी में 1.5-2 किलोमीटर पीछे हटे चीनी सैनिक : सूत्र