Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

China: डॉक्टरों का दावा, Coronavirus से हो सकती है 45 मिलियन लोगों की मौत, दुनिया की 60% आबादी हो सकती है प्रभावित

हांगकांग में सार्वजनिक स्वास्थ्य चिकित्सा के अध्यक्ष प्रोफेसर गेब्रियल लेउंग ने यह भी कहा कि भले ही मृत्यु दर सिर्फ एक प्रतिशत तक पहुंच जाए, लेकिन जिस तरह से यह फैल रहा है उसका मतलब है कि यह अभी भी हजारों लोगों को मार सकता है.

China: डॉक्टरों का दावा, Coronavirus से हो सकती है 45 मिलियन लोगों की मौत, दुनिया की 60% आबादी हो सकती है प्रभावित

डॉक्टरों ने दावा किया है कि कोरोनावायरस से 45 मिलियन लोगों की मौत हो सकती है.- फाइल फोटो

नई दिल्ली:

चीन (China) में कोरोनावायरस (Coronavirus) के कारण अब तक 1100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं 44 हजार से अधिक लोग कोरोनावायरस की चपेट में आ गए हैं. इसके बाद अब हांगकांग के मेडिकल ऑफिशियल्स ने चेतावनी दी है कि यह वायरस 45 मिलियन से अधिक लोगों की मौत का कारण बन सकता है. वहीं दुनियाभर की 60 प्रतिशत जनसंख्या इस वायरस की चपेट में आ सकती है.

यह भी पढ़ें: चीन में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1113 हुई

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, हांगकांग में सार्वजनिक स्वास्थ्य चिकित्सा के अध्यक्ष प्रोफेसर गेब्रियल लेउंग ने यह भी कहा कि भले ही मृत्यु दर सिर्फ एक प्रतिशत तक पहुंच जाए, लेकिन जिस तरह से यह फैल रहा है उसका मतलब है कि यह अभी भी हजारों लोगों को मार सकता है. वर्तमान में वैश्विक आबादी 7 बिलियन (7,577,130,400) से अधिक है और अगर प्रोफेसर लेउंग सही है तो इसका मतलब है कि यह वायरस 4 मिलियन (4,546,278,240) से अधिक लोगों को संक्रमित करने की क्षमता रखता है और यह काफी तेजी से फैल रहा है. 

विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोनावायरस के मामले समग्र रूप से बढ़ते रहेंगे क्योंकि यह स्पष्ट हो गया है कि कुछ रोगियों में शुरुआती लक्षण सामान्य जुकाम, खांसी और बुखार हैं. हालांकि, कोरोनावायरस को लेकर लगातार लोगों का परीक्षण किया जा रहा है और मामलों की पुष्टि होने पर उन्हें आइसोलेट किया जा रहा है. इस तरह से संक्रमण को फैलने से रोकने की कोशिश की जा रही है. 

गौरतलब है कि चीन में अब तक कोरोनावायरस के 43,000 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 1100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. 

Video: क्‍या है कोरोना वायरस, जानें इसके कारण, लक्षण, इलाज और बचाव के उपाय