NDTV Khabar

चीन बन रहा दुनिया के लिए आफत, अमेरिका ने कहा- उसकी हरकतें आतंकवाद जैसी

अमेरिका ने चीन की हरकतों की तुलना आतंकवाद तक से कर दी है.

1751 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
चीन बन रहा दुनिया के लिए आफत, अमेरिका ने कहा- उसकी हरकतें आतंकवाद जैसी

समंदर में तैनात भारतीय युद्धपोत, अमेरिका ने भारत की सैन्य ताकत बढ़ाने का भरोसा दिया है.

खास बातें

  1. अमेरिका के प्रशांत क्षेत्र के सैन्य कमांडर हैं एडमिरल हैरी हैरिस
  2. कहा, चीन भविष्य में दुनिया के लिए खतरा पैदा कर सकता है
  3. हैरिस ने चीन की हरकतों को आतंकवाद से तुलना की है
नई दिल्ली: जमीन से लेकर समंदर तक में सीमा को लेकर दुनिया के कई देशों से टकराव ले रहे चीन को अमेरिका ने भविष्य के लिए बड़ा खतरा बताया है. अमेरिका ने चीन की हरकतों की तुलना आतंकवाद तक से कर दी है. अमेरिका के प्रशांत क्षेत्र के सैन्य कमांडर एडमिरल हैरी हैरिस ने कहा कि चीन भविष्य में दुनिया के लिए बड़ा खतरा बनने वाला है. अमेरिकी सैन्य व्यवस्था में प्रशांत क्षेत्र के अंतर्गत ही दक्षिण चीन सागर और उत्तर कोरिया का आता है, जहां पर आने वाले दिनों टकराव की सबसे ज्यादा आशंका है. 

यह भी पढ़ें: समंदर में भारत को घेरने के लिए चीन-पाकिस्तान ने बिछाया ये 'जाल'

एडमिरल हैरिस ने कहा कि भविष्य का सबसे बड़ा खतरा आक्रामक और किसी भी तरह से आगे बढ़ने की इच्छा पाले चीन है. लेकिन इस समय का सबसे बड़ा खतरा उत्तर कोरिया है. इसके अतिरिक्त जो बड़ा खतरा अमेरिका सहित दुनिया के ज्यादातर देश झेल रहे हैं वह आतंकवाद है. आईएस और दूसरे आतंकी संगठन अलग-अलग देशों में हमले करके निर्दोष लोगों को मार रहे हैं और संपत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं. 

ये भी पढ़ें:  किम जोंग ने मुकर्रर किया US की तबाही का वक्त, ट्रंप बोले-इतने बम बरसाएंगे कि दुनिया देखेगी

फिलीपींस के मरावी शहर का जिक्र करते हुए एडमिरल हैरिस ने कहा कि हम वहां पर फिलीपींस की सेना का सहयोग कर रहे हैं. जल्द ही शहर पर दोबारा कब्जा पाने की उम्मीद है. मुस्लिम बहुल यह शहर कई महीनों से आतंकियों की गिरफ्त में है और वहां पर सेना और आतंकियों के बीच संघर्ष चल रहा है. 

वीडियो: डोकलाम मामले पर दुनिया भारत के साथ


भारत के प्रति अमेरिका की नरमी: एडमिरल हैरिस ने कहा, भारतीय सेनाओं को आधुनिक उपकरणों से लैस करके और सैनिकों को प्रशिक्षण देकर अमेरिका उन्हें और प्रभावशाली बना सकता है. दोनों देशों बीच पिछले दशक में 15 अरब डॉलर (एक लाख करोड़ रुपये) रक्षा क्षेत्र का कारोबार हुआ है, जो आने वाले वर्षो में बढ़ने की उम्मीद है. मजबूत भारत से सभी का लाभ है.

इनपुट: पीटीआई


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
1751 Shares
(यह भी पढ़ें)... Bigg Boss 11: बदल जाएंगे घर के सारे सदस्य

Advertisement