NDTV Khabar

भारत पर नजर रखने के इरादे से चीन ने पाकिस्तान के लिए 2 सैटेलाइट लॉन्च किए

भारत पर नजर रखने के इरादे से चीन ने सोमवार को पाकिस्तान के लिए दो सैटेलाइट लॉन्च किए हैं. ये सैटेलाइट चाइना-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर पर नज़र रखने में भी मददगार साबित होंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत पर नजर रखने के इरादे से चीन ने पाकिस्तान के लिए 2 सैटेलाइट लॉन्च किए

चीन में जिउकान उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से सुबह 11 बजकर 56 मिनट पर सैटेलाइट प्रक्षेपित किया गया.

खास बातें

  1. चीन ने भारत पर नजर रखने को पाक के लिए दो उपग्रह लॉन्च किए
  2. चाइना-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर पर नज़र रखने में भी मददगार
  3. पीआरएसएस -1 पाक को बेचा गया चीन का पहला ऑप्टिकल रिमोट सेंसिंग उपग्रह
नई दिल्ली/बीजिंग: भारत पर नजर रखने के इरादे से चीन ने सोमवार को पाकिस्तान के लिए दो सैटेलाइट लॉन्च किए हैं. ये सैटेलाइट चाइना-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर पर नज़र रखने में भी मददगार साबित होंगे. तकरीबन 19 साल के दौरान 'लॉन्ग मार्च -2 सी' रॉकेट का यह पहला अंतरराष्ट्रीय व्यावसायिक प्रक्षेपण है. सैटेलाइट पीआरएसएस-1 और पाकटीईएस -1 ए को पश्चिमोत्तर चीन में जिउकान उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से सुबह 11 बजकर 56 मिनट पर प्रक्षेपित किया गया.
 
1selyi1cdrx
पीआरएसएस -1 पाकिस्तान को बेचा गया चीन का पहला ऑप्टिकल रिमोट सेंसिंग उपग्रह है .

पीआरएसएस -1 पाकिस्तान को बेचा गया चीन का पहला ऑप्टिकल रिमोट सेंसिंग उपग्रह है और किसी विदेशी खरीदार के लिए चाइना एकेडमी ऑफ स्पेस टेक्नोलॉजी (सीएएसटी) द्वारा विकसित 17वां सैटेलाइट है. पाकिस्तान द्वारा विकसित वैज्ञानिक प्रयोग उपग्रह पाकटीईएस-1 ए को उसी रॉकेट से उसकी कक्षा में भेजा गया.
 
tjebfsk24ch
वैज्ञानिकों के अनुसार यह सैटेलाइट पाकिस्तान को भारत पर नजर रखने में  भी मदद करेगा.

सरकारी समाचार एजेंसी 'शिन्हुआ' की रिपोर्ट के अनुसार अगस्त 2011 में संचार उपग्रह पाकसैट-1 आर के प्रक्षेपण के बाद से चीन एवं पाकिस्तान के बीच एक और अंतरिक्ष सहयोग हुआ है. पीआरएसएस -1 का इस्तेमाल जमीन एवं संसाधन के सर्वेक्षण, प्राकृतिक आपदाओं की निगरानी, कृषि अनुसंधान, शहरी निर्माण और सीमा एवं सड़क क्षेत्र के लिए रिमोट सेंसिंग सूचना उपलब्ध कराने के लिए किया जायेगा.
 
iyzd83fz3s
पीआरएसएस-1 सैटेलाइट दिन और दोनों में मॉनिटरिंग करने में सक्षम है.

टिप्पणियां
आज का यह प्रक्षेपण लॉन्ग मार्च रॉकेट सीरीज का 279वां अभियान और करीब दो दशक के बाद पहला अंतरराष्ट्रीय व्यावसायिक प्रक्षेपण है. 1999 में इसने मोटोरोला के इरिडियम उपग्रह का प्रक्षेपण किया था. 

(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement