चीन ने Coronavirus संक्रमण का केंद्रबिंदु माने जा रहे वुहान लैब की 'झलक' दिखाई, यह है कारण..

जो फुटेज प्रसारित किए गए, उसमें लैब की मोटी खिड़कियों के माध्यम से ली गई वास्तविक प्रयोगशाला क्षेत्रों (Actual Laboratory Areas) के केवल कुछ संक्षिप्त शॉट्स शामिल थे. रिपोर्ट में कहा गया है कि सुरक्षा प्रोटोकॉल ने उसे उसे करीबी पहुंच (Closer access) से रोका.

चीन ने Coronavirus संक्रमण का केंद्रबिंदु माने जा रहे वुहान लैब की 'झलक' दिखाई, यह है कारण..

वुहान लैब की गतिविधियों को लेकर चीन पूरी दुनिया के दबाव का सामना कर रहा है

बीजिंग:

Covid-19 Pandemic: चीन के सरकारी मीडिया ने कोरोना वायरस की महामारी (Coronavirus Pandemic) के केंद्र बिंदु माने जा रहे वुहान के लैब (Wuhan Institute of Virology) की झलक दिखाई है. उसका मानना है कि ऐसा करने वाले इस लैब के कोरोना के वैश्विक प्रकोप का मुख्‍य केंद्र होने के दावे को 'पीछे छोड़ने' में मदद मिलेगी. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और अमेरिका प्रशासन से जुड़े लोगों ने बार-बार आरोप लगाया है कि कोरोना वायरस वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से लीक हुआ है, यह भी संभव है कि इसे वहां तैयार किया गया हो. वुहान लैब की गतिविधियों लेकर चीन पूरी दुनिया की ओर से दबाव का सामना कर रहा है.

चीन द्वारा संचालित CCTV की ओर से प्रसारित फुटेज को संस्थान के P4 लैब के अंदर का पहला फुटेज माना जा सकता है. वुहान लैब का शुभारंभ वर्ष 2017 में किया गया था. हालांकि, इसने लैब के कामकाज के बारे में कोई नई जानकारी नहीं दी है. जो फुटेज प्रसारित किए गए, उसमें लैब की मोटी खिड़कियों के माध्यम से ली गई वास्तविक प्रयोगशाला क्षेत्रों (Actual Laboratory Areas) के केवल कुछ संक्षिप्त शॉट्स शामिल थे. रिपोर्ट में कहा गया है कि सुरक्षा प्रोटोकॉल ने उसे उसे करीबी पहुंच (Closer access) से रोका. वुहान नेशनल बायोसेफ्टी लैबोरेटरी के निदेशक युआन झिमिंग ने कहा, "लैब से रोगजनक लीक या मानव संक्रमण की कोई दुर्घटना नहीं हुई है.किसी भी संक्रामक रोग के कारण होने वाले प्रकोप और महामारी पर इस समय लोगों का पूरा ध्‍यान केंद्रित है." उन्‍होंने कहा,"डर और असहायता की भावना और जानकारी की कमी के कारण बहुत से लोग स्वाभाविक रूप से किसी क्षेत्र के प्रकोप को निकटतम लैब से जोड़ने लगते हैं. जैसे-जैसे वे लैब के बारे में ज्‍यादा जानेंगे, अफवाहें धीरे-धीरे हवा हो जाएंगी.'

COVID-19 पहली बार चीन के वुहान में सामने आया था. इस वायरस की महामारी के कारण पूरी दुनिया में अब तक पांच लाख से अधिक लोगों को जान गंवानी पड़ी है. वैज्ञानिकों का मानना है कि यह वायरस चमगादड़ों में उत्पन्न हुआ और एक अन्य स्तनपायी के माध्यम से लोगों तक पहुंचा. चीनी अधिकारियों ने वायरस के प्रकोप के बारे में कहा कि यह एक बाजार जीवित जानवरों और उनका मांस बेचा जाता था हालांकि इस खुलासे के बारे में पूरी तरह से पुष्टि नहीं हहुई है. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com