UNSC में पाकिस्तान ने फिर मुंह की खाई, जम्मू-कश्मीर पर नहीं चली चीन की पैंतरेबाजी

जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान को एक बार फिर नाकामी हाथ लगी है. पाकिस्तान का समर्थन करते हुए चीन ने कश्मीर मसले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में अन्य देशों का समर्थन पाने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी.

UNSC में पाकिस्तान ने फिर मुंह की खाई, जम्मू-कश्मीर पर नहीं चली चीन की पैंतरेबाजी

कश्मीर मुद्दे पर UNSC में चीन ने पाकिस्तान का समर्थन किया. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • चीन ने UN में उठाया कश्मीर मु्द्दा
  • फिर नाकाम हुई चीन की कोशिश
  • चीन ने किया पाकिस्तान का समर्थन
वॉशिंगटन:

जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान को एक बार फिर नाकामी हाथ लगी है. पाकिस्तान का समर्थन करते हुए चीन ने कश्मीर मसले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में अन्य देशों का समर्थन पाने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी. चीन की इस नाकाम कोशिश पर अन्य देशों ने कहा कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा है. दरअसल चीन ने बीते बुधवार (15 जनवरी) न्यूयॉर्क में बंद कमरे में हुई UNSC की बैठक में एक बार फिर कश्मीर का मामला उठाने की कोशिश की लेकिन उसकी यह कोशिश नाकाम हो गई. परिषद के अन्य सभी सदस्य देशों ने इसका विरोध किया. UNSC के सदस्य देशों ने कहा कि इस मुद्दे पर बहस के लिए यह सही जगह नहीं है. यह भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा है.

फ्रांस की ओर से भी इसका विरोध किया गया. फ्रांस ने जम्मू-कश्मीर को भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा बताते हुए इस पर चर्चा का विरोध किया. पिछले महीने हुई बैठक में भी फ्रांस, अमेरिका, रूस और ब्रिटेन ने चीन द्वारा कश्मीर मुद्दे को उठाने के मंसूबों पर पानी फेर दिया था. फ्रांस ने कहा था कि इस मामले में उनका रुख नहीं बदला है. वह हर मौके पर यही कहते आए हैं कि यह दो देशों के बीच का मामला है. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा, 'हमने एक बार फिर देखा कि पाकिस्तान ने ये मुद्दा उठाने की कोशिश की, जिसे किसी का भी समर्थन नहीं मिला. हमें खुशी है कि इस मामले में पाकिस्तान के किसी बेबुनियाद आरोप को UN ने चर्चा के लायक नहीं समझा.'

PAK पीएम इमरान खान के भांजे को जेल जाने से पहले ही मिली जमानत, दंगे की फुटेज में आए थे नजर

चीनी राजदूत झांग जुन ने कहा, 'हमने जम्मू-कश्मीर को लेकर बैठक की थी. मुझे पूरा यकीन है कि आप सब लोगों को पता होगा कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने सुरक्षा परिषद को चिट्ठी लिख कहा है कि उन्हें जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालातों पर गौर करना चाहिए. मुझे लगता है कि इस मुद्दे पर दोनों देशों के बीच बातचीत के जरिए सकारात्मक नतीजे आ सकते हैं. बातचीत मददगार होगी और इससे सब हल हो सकता है.' बताते चलें कि हाल ही में UN की बैठक में पाकिस्तान ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 खत्म किए जाने के बाद वहां के हालात सामान्य नहीं हैं. स्थानीय नेताओं को उनके घरों में कैद किया गया है. इंटरनेट समेत कई सेवाएं अभी भी बंद हैं. भारत कई सार्वजनिक मंचों से घाटी के हालात सामान्य बता रहा है. पाकिस्तान को जवाब देते हुए सैयद अकबरुद्दीन ने कहा, 'दुनिया आपके झूठ से तंग आ चुकी है. सब आपका सच जानते हैं और अब हमारे खिलाफ झूठ फैलाना बंद करें. कोई भी आपकी बात मानने को तैयार नहीं है.'

Newsbeep

VIDEO: आतंक खत्म किए बिना बात नहीं : सैयद अकबरुद्दीन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com