NDTV Khabar

दक्षिण-पूर्वी चीन में तूफान नेसात ने दी दस्तक

नेसात अपने केंद्र से 33 किलोमीटर प्रति सेकंड तक की तेज हवाओं के साथ पिंगटन द्वीप से होते हुए स्थानीय समयानुसार तड़के करीब 6 बजे तटीय शहर फुकिंग पहुंचा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दक्षिण-पूर्वी चीन में तूफान नेसात ने दी दस्तक

तूफान की प्रतीकात्मक तस्वीर

बीजिंग:

दक्षिण-पूर्वी चीन के फुजियान प्रांत में रविवार सुबह तूफान नेसात ने दस्तक दे दी. मौसम विज्ञान अधिकारियों के हवाले से समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, नेसात अपने केंद्र से 33 किलोमीटर प्रति सेकंड तक की तेज हवाओं के साथ पिंगटन द्वीप से होते हुए स्थानीय समयानुसार तड़के करीब 6 बजे तटीय शहर फुकिंग पहुंचा.

तूफान के मद्देनजर 3,100 से अधिक लोगों को यहां से सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया गया.

ये भी पढ़ें: भारत की 'सुमित्रा' ने बांग्लादेश में 27 लोगों को 'मोरा' से बचाया​

बांग्लादेश में तूफान 'मोरा', ने मचाई थी तबाही: इससे पहले इसी साल मई में चक्रवाती तूफान 'मोरा' के बांग्लादेश पहुंचने से कई घर क्षतिग्रस्त हो गए. अधिकारियों ने तटीय क्षेत्रों से हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया. तूफान के बांग्लादेशी तट पर दस्तक देने के दौरान 117 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं. बांग्लादेश के मौसम विज्ञान विभाग ने एक विशेष मौसम बुलेटिन में बताया कि चक्रवात कोक्स बाजार और चटगांव के मुख्य बंदरगाह के बीच स्थानीय समयानुसार सुबह छह बजे पहुंचा. उन्होंने बताया कि चक्रवात के उत्तरी दिशा की ओर आगे बढ़ने की संभावना है.

'डेली स्टार' की रिपोर्ट के अनुसार 'मोरा' के कारण बांग्लादेश की उत्तरी खाड़ी, तटीय जिलों और समुद्री बंदरगाहों में बारिश या गरज के साथ छींटे पड़े और जोरदार हवाएं चलीं. उन्होंने बताया कि चक्रवात केंद्र के 64 किमी दायरे में चलने वाली हवा की रफ्तार 89 किमी प्रतिघंटे से बढ़कर 117 किमी प्रति घंटा हो गई.


वीडियो: 'कोमेन' के चलते चार राज्यों में जोरदार बारिश के आसार

टिप्पणियां

'बी डी न्यूज' ने आपदा प्रबंधन मंत्रालय के नियंत्रण कक्ष के प्रवक्ता अतिरिक्त सचिव गुलाम मुस्तफा के हवाले से कहा कि अधिक से अधिक 3,00,000 लोगों को उन 10 जिलों से सुरक्षित आश्रयों में पहुंचाया गया, जहां चक्रवात आने का सबसे अधिक खतरा है.
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement