NDTV Khabar

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की तारीफ की, दूत ने संदेश दिया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की तारीफ की, दूत ने संदेश दिया

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

चीन के विदेशमंत्री और विशेष दूत वांग यी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा कि उनके राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने मोदी के नेतृत्व तथा उनकी ओर से साथ मिलकर काम करते हुए 'शांतिपूर्ण सहयोग और समावेशी विकास' की पैरोकारी करने सराहना की है।

वांग ने आज मोदी से मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच 45 मिनटों तक यह मुलाकात चली। इस दौरान चीन विदेश मंत्री ने मोदी को अपने राष्ट्रपति का संदेश दिया।

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की ओर से भेजे गए संदेश में कहा गया है, 'आपके (मोदी) नेतृत्व के तहत भारत अधिक विकास और प्रगति हासिल करेगा। भारत और चीन दीर्घकालीन रणनीतिक सहयोग में साझेदार हैं।'

इसमें कहा गया, 'ऐसे में, मिलकर काम करते हैं ताकि हमारे देश की जतना के फायदे के लिए तथा एशिया एवं विश्व में शांति, स्थिरता और समृद्धि के हित में शांतिपूर्ण सहयोग और समावेशी विकास हासिल कर सकें।'

शी ने मोदी को नयी सरकार बनाने की बधाई भी दी है।

चीन के राष्ट्रपति के संदेश पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत 'सहयोग को विस्तार देने के लिए चीन के नेतृत्व के साथ मिलकर काम करने का उत्सुक है।' अधिकारियों ने कहा कि मोदी ने चीन के राष्ट्रपति के संदेश की सराहना की। यह संदेश भारत की नयी सरकार के साथ चीन की ओर से संबंधों के निर्माण से जुड़े महत्व को रेखांकित करता है।

मोदी ने राष्ट्रपति शी को इस साल भारत का दौरा करने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने चीन के प्रधानमंत्री ली क्विंग की ओर से अपने देश की यात्रा करने की ओर से दिया गया न्योता भी स्वीकार किया।

अधिकारियों ने कहा कि दोनों पक्ष राजनयिक माध्यमों से संपर्क में रहेंगे ताकि इन यात्राओं तथा बहुमंचीय शिखर सम्मेलनों से इतर होने वाली दूसरी मुलाकातों के लिए जरूरी प्रबंध किया जा सकें। प्रधानमंत्री मोदी ने एक मजबूत और समृद्ध एशिया तथा आर्थिक साझेदार के तौर पर परस्पर हितकारी व्यापार एवं निवेश के लिए भारत और चीन के बीच बड़े पैमाने पर सहयोग की संभावना पर जोर दिया।

उन्होंने पड़ोसी देशों के तौर पर आतंकवाद विरोधी लड़ाई, सांस्कृतिक आदान प्रदान जैसे क्षेत्रों में हाथ मिलाने को लेकर भी बात की।

अधिकारियों के अनुसार मोदी ने कहा कि दोनों देशों के पास मजबूत सभ्यतामूलक संपर्क हैं तथा इसकी बुनियाद पर हमारी समझ को बढ़ावा देना चाहिए।

मोदी ने चीन के विद्वान ह्वने सांग की सातवीं सदी में हुई वडनगर यात्रा का जिक्र किया। वडनगर मोदी का गृहस्थान है।

अपनी भारतीय समकक्ष सुषमा स्वराज से तीन घंटे वार्ता करने के एक दिन बाद वांग ने आज सात रेसकोर्स रोड जाकर मोदी से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान विदेश मंत्री भी मौजूद थीं।

चीन के राष्ट्रपति शी चिनपिंग ने उन्हें नये नेतृत्व से मुलाकात के लिए विशेष दूत के रूप में भेजा।

मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद चीन के प्रधानमंत्री ली किकियांग पहले विदेशी शासनाध्यक्षों में से एक थे जिन्होंने उन्हें फोन किया था। चीन के प्रधानमंत्री ने मोदी को फोन करने के दौरान नयी सरकार के साथ मजबूत सहयोग करने की अपनी सरकार की इच्छा से अवगत कराया। उन्होंने 'बकाया मुद्दों' पर काम करने की इच्छा जताई।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement