म्यांमार में रोहिंग्या और सुरक्षा बलों के बीच हुए संघर्ष की जांच के लिए आयोग बनेगा

रखाइन राज्य में रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी के आतंकी हमले के बाद हुए मानवधिकार उल्लंघन की जांच स्वतंत्र जांच आयोग करेगा

म्यांमार में रोहिंग्या और सुरक्षा बलों के बीच हुए संघर्ष की जांच के लिए आयोग बनेगा

प्रतीकात्मक फोटो.

यंगून:

म्यांमार ने अपने पश्चिमी राज्य रखाइन में सुलह, शांति और विकास को हासिल करने की पहल के तहत एक स्वतंत्र आयोग गठित करने का फैसला किया है.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपट के अनुसार, स्वतंत्र आयोग अराकीन रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी (एआरएसए) के आतंकी हमले के बाद हुए मानवधिकार उल्लंघन और इससे संबंधित मुद्दों की जांच करेगा.

गुरुवार देर रात की गई इस घोषणा के अनुसार, इस आयोग में एक अंतरराष्ट्रीय हस्ती समेत तीन सदस्य होंगे और इस आयोग को राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय कानून विशेषज्ञ सहायता प्रदान करेंगे.

VIDEO : रोहिंग्या पर सराकर सतर्क

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

म्यांमार सरकार ने दोहराया है कि अगर पक्के सबूतों के साथ देश के सुरक्षाबलों द्वारा मानवाधिकार उल्लंघन का पता चलेगा तो कानून के अनुसार जांच शुरू की जाएगी और कार्रवाई की जाएगी. एआरएसए के चरमपंथियों ने रखाइन के पुलिस चौकियों पर 25 अगस्त 2017 को हमला कर दिया था.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)