NDTV Khabar

म्यांमार में रोहिंग्या और सुरक्षा बलों के बीच हुए संघर्ष की जांच के लिए आयोग बनेगा

रखाइन राज्य में रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी के आतंकी हमले के बाद हुए मानवधिकार उल्लंघन की जांच स्वतंत्र जांच आयोग करेगा

174 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
म्यांमार में रोहिंग्या और सुरक्षा बलों के बीच हुए संघर्ष की जांच के लिए आयोग बनेगा

प्रतीकात्मक फोटो.

यंगून:

म्यांमार ने अपने पश्चिमी राज्य रखाइन में सुलह, शांति और विकास को हासिल करने की पहल के तहत एक स्वतंत्र आयोग गठित करने का फैसला किया है.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपट के अनुसार, स्वतंत्र आयोग अराकीन रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी (एआरएसए) के आतंकी हमले के बाद हुए मानवधिकार उल्लंघन और इससे संबंधित मुद्दों की जांच करेगा.

गुरुवार देर रात की गई इस घोषणा के अनुसार, इस आयोग में एक अंतरराष्ट्रीय हस्ती समेत तीन सदस्य होंगे और इस आयोग को राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय कानून विशेषज्ञ सहायता प्रदान करेंगे.

VIDEO : रोहिंग्या पर सराकर सतर्क

टिप्पणियां

म्यांमार सरकार ने दोहराया है कि अगर पक्के सबूतों के साथ देश के सुरक्षाबलों द्वारा मानवाधिकार उल्लंघन का पता चलेगा तो कानून के अनुसार जांच शुरू की जाएगी और कार्रवाई की जाएगी. एआरएसए के चरमपंथियों ने रखाइन के पुलिस चौकियों पर 25 अगस्त 2017 को हमला कर दिया था.


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement