क्यों न्यूयार्क में सबसे ज़्यादा बरपा कोरोनावायरस का कहर...?

कोरोनावायरस के कहर से सबसे ज़्यादा प्रभावित शहरों में से एक न्यूयार्क में दुनिया के ज़्यादातर देशों से भी ज़्यादा मरीज़ सामने आए, और समूचे संयुक्त राज्य अमेरिका में हुई मौतों में से लगभग आधी सिर्फ न्यूयार्क में ही हुईं.

क्यों न्यूयार्क में सबसे ज़्यादा बरपा कोरोनावायरस का कहर...?

न्यूयार्क में COVID-19 से शुक्रवार तक 7,800 से ज़्यादा मौतें हो चुकी हैं.

न्यूयार्क:

कोरोनावायरस के कहर से सबसे ज़्यादा प्रभावित शहरों में से एक न्यूयार्क में दुनिया के ज़्यादातर देशों से भी ज़्यादा मरीज़ सामने आए, और समूचे संयुक्त राज्य अमेरिका में हुई मौतों में से लगभग आधी सिर्फ न्यूयार्क में ही हुईं. क्या न्यूयार्क के नेताओं ने बाकी देश और दुनिया से अलग कोई तरीका अपनाया था, जिसकी वजह से यहां ऐसा हुआ...? शुक्रवार तक ही न्यूयार्क राज्य में COVID-19 के संक्रमण के लगभग 1,60,000 कन्फर्म्ड मामले सामने आ चुके थे, और 7,800 से ज़्यादा मौतें हो चुकी थीं.

पिछले कुछ दिनों में न्यूयार्क के गवर्नर एंड्रयू कौमो ने बार-बार कहा कि जनसंख्या घनत्व तथा न्यूयार्क आने वाले विदेशी पर्यटकों की भारी संख्या की वजह से न्यूयार्क शहर इस संक्रामक बीमारी के लिए आदर्श ब्रीडिंग ग्राउंड बनकर रह गया, और अब तक सिर्फ न्यूयार्क शहर से ही लगभग 93,000 कन्फर्म्ड मामले सामने आए हैं. अमेरिका की वित्तीय राजधानी कहे जाने वाले न्यूयार्क की आबादी 86 लाख है, और देश के सबसे घने बसे शहर का जनसंख्या घनत्व 10,000 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है.

न्यूयार्क में हर साल छह करोड़ से भी ज़्यादा पर्यटक आते हैं, और अधिकतर यात्रियों के लिए न्यूयार्क ही अमेरिका का प्रवेश द्वार साबित होता है, यानी वायरस से संक्रमित होने के बाद अमेरिका पहुंचने वाले किसी भी शख्स के सबसे पहले न्यूयार्क पहुंचने के सबसे ज़्यादा आसार रहते हैं.

इसी शहर में ज़रूरत से ज़्यादा भीड़भाड़ वाले इलाके भी हैं, जहां संपन्न लोग नहीं बसते. ब्रॉन्क्स और क्वीन्स जैसे इलाकों में, जहां रहने वाले बहुत-से लोग पहले से ही बीमारियों की चपेट में हैं, और उन्हें उचित मेडिकल देखभाल भी नसीब नहीं हो पाती, COVID-19 का सबसे ज़्यादा असर हुआ.

कोलम्बिया यूनिवर्सिटी में पब्लिक हेल्थ प्रोफेसर इरविन रेडलेनर का कहना है, "न्यूयार्क शहर में ऐसे सभी हालात पहले से मौजूद हैं, जिनसे यह अंदाज़ा लगाया जा सके कि इस शहर को बहुत ज़्यादा नुकसान होने वाला है..."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

न्यूयार्क राज्य में दूसरा कन्फर्म्ड केस 2 मार्च को सामने आया था, और कापी हिचकने के बाद 16 मार्च को न्यूयार्क के मेयर बिल डे ब्लासियो ने सार्वजनिक स्कूलों, बार तथा रेस्तरां बंद किए जाने का आदेश जारी किया. गवर्नर ने इसके भी एक हफ्ते बाद 22 मार्च को सभी गैर-ज़रूरी व्यवसायों को बंद करने का आदेश दिया, और सभी को घरों में ही रहने के लिए कहा.

दूसरी ओर, अमेरिका के सबसे ज़्यादा आबादी वाले कैलिफोर्निया राज्य में 16 मार्च को सैन फ्रांसिस्को इलाके में छह काउंटी में घरों पर रहने के आदेश जारी किए गए, जिसे दो ही दिन बाद समूचे राज्य में लागू कर दिया.
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)