विमान हादसे में मारे गए लोगों के देशों ने ईरान से मुआवजा मांगा

कनाडा, ब्रिटेन, अफगानिस्तान, स्वीडेन एवं यूक्रेन के विदेश मंत्रियों ने ट्राफलगर स्क्वायर पर स्थित कनाडा उच्चायोग में बैठक के बाद इस संबंध में एक बयान जारी किया.

विमान हादसे में मारे गए लोगों के देशों ने ईरान से मुआवजा मांगा

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • मारे गए लोगों के देशों ने मांग की है कि ईरान घटना की ‘पूरी जिम्मेदारी’ ले
  • ईरान के मिसाइल हमले में मारा गया था यू्क्रेन का विमान
  • तेहरान के इमाम खुमैनी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 8 जनवरी को हुई दुर्घटना
लंदन:

ईरान के मिसाइल हमले में गिरे यू्क्रेन के विमान में मारे गए लोगों के देशों ने उससे मांग की है कि वह घटना की ‘पूरी जिम्मेदारी' ले और पीड़ितों के परिजनों को मुआवजा दे. कनाडा, ब्रिटेन, अफगानिस्तान, स्वीडेन एवं यूक्रेन के विदेश मंत्रियों ने ट्राफलगर स्क्वायर पर स्थित कनाडा उच्चायोग में बैठक के बाद इस संबंध में एक बयान जारी किया. गौरतलब है कि तेहरान के इमाम खुमैनी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से आठ जनवरी को उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद यूक्रेन इंटरनेशनल एयरलाइन का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिससे इसमें सवार सभी 176 लोगों की मौत हो गई थी.

इराक में अमेरिकी सैन्य अड्डों को निशाना बना कर किए गए बैलेस्टिक मिसाइल के हमले में यह विमान गिरा था. मरने वालों में कनाडा के 57, यूक्रेन के 11, स्वीडन के 17, अफगानिस्तान और ब्रिटेन के चार नागरिक शामिल हैं. मारे गए लोगों में ईरान के नागरिक भी हैं. कनाडा के विदेश मंत्री फ्रैंकोइस फिलिप शैंपेन ने लंदन में कहा कि हम यहां पीड़ितों के लिए जवाबदेही, पारदर्शिता और न्याय के लिए हैं.

पेशाब, पीरियड्स का ब्लड और थूक मिलाकर 'मेड' ने घरवालों को महीनों तक खिलाया खाना, अब मिली ऐसी सजा

उन्होंने कहा कि ईरान ने हादसे की जिम्मेदारी ली है, लेकिन जांच से ही इस बात का खुलासा होगा कि विमान हादसे के कारण क्या हैं और कौन जिम्मेदार है. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने विमान हादसे के मामले की समग्र, पारदर्शी एवं स्वतंत्र अंतरराष्ट्रीय जांच की बात कही है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com